अम्बाला – पेशी से लौट रहे हिस्ट्रीशीटरो पर बरसी दिनदहाड़े गोली, दो की मौत, दो गंभीर रूप से घायल, फेसबुक पोस्ट से खुला ये बड़ा राज़

तरुण गौड़

अम्बाला। अम्बाला की सड़क पर दिनदहाड़े आज अज्ञात बदमाशो ने एक कार को रोककर अंधाधुंध गोलिया चलाई। इस गोलीबारी में दो लोगो की मौत हो गई जबकि दो गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल दोनों युवको को चंडीगढ़ रिफर कर दिया गया है। मृतक दोनों युवक कुख्यात हिस्ट्रीशीटर बताये जा रहे है। वही घायल दोनों युवको का भी बड़ा अपराधिक रिकार्ड सामने आया है। प्रराम्भिक जाँच में हत्या का कारण जेल में आपसी रंजिश में गैगवार दिखाई दे रहा है।

मौके से मिली जानकारी और पुलिस के अनुसार गुरुवार को चंडीगढ़ से राहुल, प्रदीप, गौरव और अश्वनी, दीपा गुर्जर, नंदू और एक अन्य अंबाला में पेशी पर आए थे। पेशी के बाद राहुल उर्फ अन्ना और प्रदीप उर्फ पंजा अपने सहयोगियों के साथ कार में वापस निकले तो कोर्ट गेट पर नंदू, दीपा और एक अन्य उनके साथ कार में सवार हो गए। नंदू, दीपा और एक अन्य व्यक्ति अग्रसेन चौक पर कार से उतर गए। दोपहर 12:00 बजे कालका चौक पर कार सवार बदमाशों ने उनकी गाड़ी को पहले तो पीछे से ठोका और फिर गाडी रुकवाकर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी।

फायरिंग के बाद बदमाश हथियार लहराते हुए भाग निकले। फायरिंग से चौक पर अफरातफरी मच गई। मौलीजागरां निवासी हिस्ट्रीशीटर राहुल उर्फ अन्ना (23) और प्रदीप उर्फ पंजा (35) की मौके पर ही मौत हो गई। कार चालक गौरव को चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया। वहीं घायल अश्वनी को पहले नागरिक अस्पताल लाया गया लेकिन बाद में चंडीगढ़ रेफर कर दिया। पुलिस ने मनीमाजरा निवासी अश्वनी की शिकायत पर कार सवार चार अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या, जानलेवा हमला, आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्जकर जांच शुरू कर दी है।

घटना के काफी देर बाद पुलिस मौके पर पहुची थी। एसपी अम्बाला हामिद अख्तर ने मीडिया से बात करते हुवे कहा है कि प्रारंभिक जांच में यह मामला 20 महीने पहले लॉरेंस बिश्नोई और भूप्पी राणा गैंग के सदस्यों में अंबाला सेंट्रल जेल में मारपीट से जुड़ा नजर आ रहा है। शहर थाना पुलिस ने घायल अश्वनी के बयान पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोपियों की पहचान और धरपकड़ के प्रयास जारी हैं।

चारों पर दर्ज है चंडीगढ़-पंचकूला सहित कई जगह केस

दिनदहाड़े हुई इस घटना से क्षेत्र में अफरातफरी का माहोल बन गया। दिनदहाड़े ताबड़तोड़ फायरिंग में मारे गए राहुल उर्फ अन्ना (23), प्रदीप उर्फ पंजा (35) और घायल गौरव (24) व अश्विनी पुलिस के रिकॉर्ड में हिस्ट्रीशीटर हैं। चारों कई आपराधिक मामले में संलिप्त थे और उन पर मौलीजागरां समेत शहर के कई थानों में लड़ाई से लेकर हत्या के प्रयास, पुलिस पर हमला, सरकारी संपत्ति को नष्ट करने, एक्साइज एक्ट के मामले दर्ज हैं। चारों कई मामलों में जेल भी गए थे और जमानत रिहा हुवे है।

तो क्या हत्या किसी और की होनी थी और हो गई किसी और की

मामले में एक बड़ा ड्रामेटिक मोड़ तब आया जब पुलिस की नज़र एक फेसबुक पोस्ट पर पड़ी। पोस्ट में इस हत्याकाण्ड के सम्बन्ध में दावा किया गया था। हमलावरों ने अपनी पोस्ट में लिखा कि “‘सत श्री अकाल, मुझे आशा है कि तुम सभी ठीक होगे। आज जो अंबाला कोर्ट के बाहर दो कत्ल हुए हैं मनीष और मनी का। वह कत्ल हमारे दविंदर बंबीहा ग्रुप वाले वीर नीरज चसका जैतों और मन जैतों की ओर से किया गया है। एक बात और हमारे विरोधी कान खोलकर सुन लें कि हमने जो भी किया जायज किया और हमने अपने भाई मीत बाउंसर का बदला ले लिया है। और बाकी रहते हैं वह भी अब तैयार रहें।

हालांकि जब मृतकों की शिनाख्त हुई तो तुरंत इस पोस्ट को अकाउंट से हटा दिया गया। बता दें कि मनी भाटिया जीरकपुर का रहने वाला है जो इन दिनों जमानत पर जेल से बाहर है। मनी की भी आज अंबाला कोर्ट में पेशी थी और वह पहले से ही हमलावरों के रडार पर चल रहा है। इस पोस्ट में दोनों का फोटो भी डाला गया था। पोस्ट डिलीट होने के बाद से पुलिस अब दुनी तेज़ी के साथ हरकत में आई है और आरोपियों के तलाश जारी कर दिया है। इस फेसबुक पोस्ट से तो यही ज़ाहिर हो रहा है कि हमलावर किसी और की हत्या करने आये थे मगर पहनावा तथा एक जैसी गाड़ी के कारण धोखे में रह गए और हत्या किसी और की हो गई।

दस दिन पहले हुई थी एक मृतक की शादी, मेहँदी भी न छुट पाई कि वो हो गई विधवा

35 वर्षीय मृतक प्रदीप उर्फ पंजाब चंडीगढ़ के मौली जागरां के रहने वाले थे। प्रदीप की 10 दिन पहले ही लव मैरिज हुई थी। हाथ की मेहंदी छूटने से पहले पत्नी के माथे का सिंदूर ही मिट गया है। अभी दोनों एक दूसरे को अच्छे से समझ भी नहीं थे कि पंजा की मौत हो गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *