फिरौती की रकम के खातिर दोस्तों ने ही किया था विनय का क़त्ल, आला-ए-क़त्ल की बरामदगी के साथ क़त्ल आरोपियों को पुलिस ने महज़ तीन घंटो में किया गिरफ्तार

आदिल अहमद

कानपुर। दोस्त ही जब क़त्ल का मंसूबा पाल बैठे तो फिर कोई शख्स कहा महफूज़ रह सकता है। आर्डिनेंस फक्ट्री के सेवानिवृत हुवे रामऔतार प्रभारकर के छोटे बेटे छोटू उर्फ़ विनय ने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उसके खुद के दोस्त जिसने साथ वह हसता था, खेलता था वही उसके जान के दुश्मन बनकर उसकी जान ले बैठेगे। शायद विनय की आत्मा बार बार ये सवाल अपने दोस्तों से करने को बेचैन होगी कि आखिर उसका कसूर क्या था ? क्या वह अपनी मेहनत के बल पर नौकरी पा गया ये उसकी खता थी या फिर वह एक सभ्य था और ऐसे असभ्य लालची दरिंदो से दोस्ती कर डाली वह उसकी गलती थी।

Two arrested in the murder case of vinay @ chhotu at kanpur

मामला कानपुर जनपद के बर्रा इलाके का है जहा दोस्तों ने अपने दोस्त विनय को बुला कर उसकी हत्या कर डाली। क़त्ल भी इतनी बेरहमी से किया कि बांके से उसका गला काट डाला। इसके बाद जालिमो ने विनय की लाश को उसी की बाइक से लेजाकर बिधनू में रिंद नदी के किनारे ठिकाने लगा दिया। मृतक विनय उर्फ़ छोटू लोहिया फक्ट्री में मशीनमैंन था। पुलिस ने घटना के तीन घंटे के अन्दर ही हत्या के इस मामले का खुलासा कर दिया और हत्या में प्रयुक्त आला-ए-कत्ल बांका बरामद कर लिया और हत्यारोपी विनय के दोनों दोस्तों को हिरासत में ले लिया है।

घटना के सम्बन्ध में मिली जानकारी के अनुसार बर्रा दो निवासी ऑर्डनेंस फैक्टरी से रिटायर्ड रामऔतार प्रभाकर का छोटा बेटा विनय उर्फ छोटू (27) आईटीआई करने के बाद चौबेपुर स्थित लोहिया फैक्टरी में मशीनमैन के पद पर कार्यरत था। विनय के बड़े भाई ने रो रो कर घटना का वर्णन करते हुवे बताया कि कल शुक्रवार शाम करीब 7:30 बजे विनय फक्ट्री से घर लौटने के बाद लोवर, टीशर्ट और स्लीपर पहनकर दोस्त से मिलने की बात कहकर अपनी पल्सर बाइक से निकल गया था। देर रात तक फोन बंद होने पर परिजन उसकी तलाश में जुट गए।

वही दूसरी तरफ अनहोनी की सूचना पर पुलिस ने बर्रा आठ में एक लोडर चालक शैलेश नाथ प्रजापति के घर पर दबिश दी। शैलेश नाथ व उसके दोस्त अर्श गुप्ता के कपड़ों को खून से सना देखकर पुलिस को शक हुआ और पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दिया। पहले तो आरोपियों ने पुलिस को थोडा घुमाया मगर जैसे ही पुलिस सख्त हुई आरोपी तोते के तरह घटना का खुलासा कर दिए। आरोपियों ने बताया कि दस लाख की फिरौती वसूलने के लिए उन्होंने विनय की हत्या कर दिया है। हत्या की बात सुनते ही पुलिस भी हैरान हो गई। दो दोस्तों ने मिलकर फिरौती की खातिर अपने ही दोस्त की हत्या कर डाला।

बहरहाल, पुलिस ने विनय की बाइक बरामद कर लिया। तड़के पुलिस विनय के घर पहुंची और परिजनों को हैलट भेजकर शव की शिनाख्त कराई। पवन की तहरीर पर पुलिस ने दोनों के खिलाफ हत्या, साक्ष्य छिपाने व एससीएसटी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर लिया है। पुलिस को घटना में प्रयुक्त आला-ए-कत्ल भी बरामद हुआ है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *