वाराणसी – काशी पत्रकार संघ में फूंका चुनावी बिगुल, जाने क्या किया उपाध्यक्ष पद के प्रत्याशी पुरुषोत्तम ने पत्रकारों से अपील

तारिक़ आज़मी

वाराणसी। वाराणसी के प्रतिष्ठित काशी पत्रकार संघ में चुनावी बिगुल फूक चुका है। हर एक प्रत्याशी अपना चुनावी समीकरण सेट करने में लगा हुआ है। सभी अपनी तरह से मतदाताओं को रिझाने और उनको अपनी तरफ आकर्षित करने में लगे हुवे है। इन सबके बीच उपाध्यक्ष पद के प्रत्याशी पुरुषोत्तम ने भी चुनाव में ताल ठोका है। उन्होंने उपाध्यक्ष पद हेतु अपना दम्भ भरा है।
हमने वरिष्ठ पत्रकार पुरुषोत्तम से एक औपचारिक मुलाकात में उनसे इस काशी पत्रकार संघ के चुनावी माहौल पर चर्चा किया। उनके चुनाव में मुद्दों पर बातचीत किया। उन्होंने हमसे बात करते हुवे बताया कि दशकों से पत्रकारिता निष्पक्ष किया है। कभी छोटे बड़े का मामला नही देखा और न कभी समझा है। मैं हर एक श्रमजीवी पत्रकार का सम्मान करता हु। दशकों से काम करते हुवे मैंने एक पत्रकार का दर्द समझा है। उनकी मूलभूत समस्याओं को जानता हूं। बतौर उपाध्यक्ष मैं उन मूलभूत समस्याओं पर काम करूंगा।
बताते चले कि ज़मीनी स्तर से जुड़े पुरुषोत्तम चतुर्वेदी ने वाराणसी में सेटलाइट मीडिया की पत्रकारिता की शुरुआत किया था। वर्ष 1995 से पत्रकारिता की सेवा करने वाले पुरुषोतम चतुर्वेदी ने पत्रकार हितों की भी कई लड़ाइयों का नेतृत्व किया है। हमसे बात करते हुवे पुरषोत्तम चतुर्वेदी ने कहा कि किसी पत्रकार हेतु यदि किसी संघर्ष का मैंने नेतृत्व किया है तो वह संघर्ष सिर्फ उस एक पत्रकार विशेष की समस्या नही बल्कि पूरे पत्रकार समाज की समस्या रही है। मैंने उस संघर्ष को खुद का संघर्ष समझा है और हमेशा समझता रहूंगा।
आगे की रणनीति पर उन्होंने चर्चा करते हुवे कहा कि हर एक श्रमजीवी पत्रकार का संघर्ष मेरा अपना संघर्ष है। मैं चुनाव के बाद प्रदेश सरकार से पत्रकार सुरक्षा विधेयक लाने की मांग करूँगा। हर एक श्रमजीवी पत्रकार जो पढ़ना चाहते है उनके लिये पत्रकार संघ की लाईब्रेरी में समुचित व्यवस्थाओं को सुनिश्चित किया जाएगा। समय समय पर सीखने के लिये टर्निंग क्लासेस की व्यवस्था को सुनिश्चित किया जायेगा।
पुरषोत्तम चतुर्वेदी ने हमसे बात करते हुवे मतदाताओं से अपील किया हैं कि मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करे। उपाध्यक्ष पद के लिये मैं भी उम्मीदवार हु। मैं आपसे वायदा करता हु कि मैं आपके सुख दुख में हमेशा आपके साथ था और रहूंगा। हर एक श्रमजीवी पत्रकार हेतु हर एक संघर्ष में मैं आपके साथ सबसे आगे रहूंगा ये मेरा वायदा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *