कानपुर- रमजान के मुक़द्दस महीने में सासों की हयात के लिए सदाकत और हयात जफर हाशमी उपलब्ध करवा रहे ऑक्सीजन सिलेंडर

मो0 कुमैल

कानपुर। रमजान-उल-मुबारक का पाकीज़ा महिना चल रहा है। इस रहमतो वाले महीने में रब की बारगाह में बंदे इबादतों का सिलसिला जारी रखे है। वही इस रमजान के मुक़द्दस महीने में लोग एक दुसरे ज़रुरतमन्दो की मदद भी दिल खोल कर करते है। ऐसे ही नेक कमाओ में है हयात जफर हाशमी और सदाकत खान कोरोना योद्धा की भूमिका निभा रहे हैं।

ये दोनों अलग अलग इस रोज़े के मुक़द्दस महीने में रोज़े रखकर खिदमत-ए-खल्क कर रहे है। इनके द्वारा ऑक्सीजन के लिए भटक रहे लोगों को निशुल्क सिलिंडर उपलब्ध कराया जा रहा हैं। इसकी शुरुआत इन दोनों ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर की है। पिछले दो हफ्ते में वह कई लोगों की मदद कर चुके हैं। सदाकत का कहना है की सिलिंडर की कमी से पिछले दो दिनों से उनका काम भी प्रभावित है।

एमिटी यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता की पढ़ाई करने वाले सदाकत “इंसानियत जिंदा” है नाम से एनजीओ भी चलाते हैं। वह कहते हैं कि कोरोना काल में लोग व्यवस्थाओं से ज्यादा प्रभावित हैं। ऑक्सीजन की कमी से कई लोग रोज दम तोड़ रहे हैं। इससे आहत होकर उन्होंने निशुल्क ऑक्सीजन सिलिंडर की सप्लाई का काम शुरू किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *