जाने विस्तार से कि वाराणसी में लागू हुवे कमिश्नरेट सिस्टम के बाद अब क्या हुआ है पुलिस विभाग में बदलाव, कहा है किस अधिकारी का अस्थाई कार्यालय

तारिक़ आज़मी

वाराणसी। वाराणसी जनपद के पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम लागू होने के बाद काफी लोग अभी कन्फ्यूज़ है कि क्या कैसे प्रणाली काम करेगी। दरअसल इस सिस्टम के लागू हो जाने के बाद से पुलिस विभाग के कार्य प्रणाली में थोडा परिवर्तन आएगा। इसका एक बड़ा हिस्सा है कमिश्नरेट कोर्ट। वाराणसी में कमिश्नरेट कोर्ट अगले सप्ताह से पुलिस लाइन में लगने की संभावना जताई जा रही है। आईये इस सिस्टम में क्या कैसे होगा वो आपको बताते है।

वाराणसी शहर में होंगे दो ज़ोन

वाराणसी को दो जोन में तकसीम किया गया है। पहला काशी ज़ोन और दूसरा वरुणा ज़ोन। हर एक जोन में एक पुलिस उपयुक्त होंगे जिन्हें शोर्ट में आप डीसीपी कहा जायेगा। जिनके अंडर में अडिशनल डीसीपी यानी अपर पुलिस उपयुक्त होंगे। और उनके अधिनस्त सहायक पुलिस आयुक्त होने जिन्हें आप अभी तक क्षेत्राधिकारी के तौर पर जानते थे। काशी जोन में तीन सहायक पुलिस आयुक्त होंगे जिसमे भेलूपुर, कोतवाली और दशाश्वमेघ शामिल है। यानी इसको आप इस तरीके से समझ सकते है कि तीन क्षेत्रधिकारी के कार्यक्षेत्र काशी ज़ोन में होंगे। थानों की बात करे तो भेलूपुर सर्किल में लंका, भेलूपुर और मंडुआडीह थाने होंगे। ऐसे ही कोतवाली सर्किल में कोतवाली, आदमपुर और रामनगर थाना आयेगा। दशाश्वमेघ सर्किल में थाना दशाश्वमेघ, लक्सा और चौक रहेगा।

वरुण ज़ोन में दो सर्किल होंगे यानी कुल 7 थाने आयेगे। पहला सर्किल कैंट और दूसरा सर्किल चेतगंज होगा। कैंट सर्किल में थाना कैंट, शिवपुर, सारनाथ और लालपुर पांडेयपुर होगा। जबकि चेतगंज सर्किल में थाना चेतगंज, जैतपुरा, और सिगरा है।

जाने कौन है वाराणसी का पहला आयुक्त और कौन है किस ज़ोन का उपायुक्त

अपने कार्यशैली में शालीनता के साथ काम करने वाले मशहूर आईपीएस ए0 सतीश गणेश वाराणसी के पहले पुलिस आयुक्त है। उनके साथ आईपीएस अमित कुमार काशी ज़ोन के उपयुक्त है जबकि आईपीएस विक्रांत वीर वरुणा जोन के उपयुक्त है। दोनों ही उपायुक्त एक दुसरे ज़ोन के लिंक अधिकारी भी है।

कौन पास करेगा पुलिस कर्मियों का अवकाश

वाराणसी में लागू हुवे नए कमिश्नरेट सिस्टम के अनुसार जिले भर में दरोगा, इंस्पेक्टर और थानेदार का आकस्मिक अवकाश पुलिस उपायुक्त स्वीकृत करेंगे। इसकी सूचना वह अपर पुलिस आयुक्त को देंगे। वहीं, मुख्य आरक्षी और आरक्षी का तीन दिन तक का आकस्मिक अवकाश थाना प्रभारी स्वीकृत करेंगे। तीन दिन से अधिक की छुट्टी सहायक पुलिस आयुक्त देंगे।

कहा है किस अधिकारी का अस्थाई कार्यालय

वाराणसी कमिश्नरेट में अभी सभी अधिकारियो के स्थाई कार्यालय बनने में समय लगेगा। कमिश्नरेट ने अपने कार्यो को शुरू कर दिया है। कमिशनरी कोर्ट अगले सप्ताह से पुलिस लाइन में लगने की संभावना प्रतीत हो रही है। इस दरमियान अस्थाई कार्यालय का आवंटन हो चूका है। वाराणसी पुलिस आयुक्त ए0 सतीश गणेश से आपको अगर मिलना है तो आप एसएसपी वाराणसी के कार्यालय में जाए। वर्त्तमान में एसएसपी वाराणसी के कार्यालय को अस्थाई तौर पर पुलिस कमिश्नर को आवंटित किया गया है। अपर पुलिस आयुक्त अपराध एवं निरिक्षण/ जिला मुख्यालय का अस्थाई कार्यालय एसपी ग्रामीण के कार्यालय में है। वही अपर पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था सीओ ट्रैफिक के कार्यालय में अस्थाई तौर पर बैठ रहे है।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण को एसपी प्रोटोकाल, पुलिस उपयुक्त यातायात को एसपी ट्रैफिक, पुलिस उपयुक्त काशी जोन को सीओ कोतवाली, पुलिस उपायुक्त वरुण ज़ोन को एसपी क्राइम, अपर पुलिस उपयुक्त प्रोटोकाल को ट्रैफिक लाइन गेस्ट हाउस, अपर पुलिस उपायुक्त कासी जिन को एसपी सिटी, अपर पुलिस उपायुक्त वरुणा ज़ोन को क्राइम ब्रांच ऑफिस, अपर पुलिस उपायुक्त महिला अपराध को कार्यालय जन शिकायत प्रकोष्ठ, सहायक पुलिस आयुक्त मुख्यालय को वीआईपी सेल कार्यालय तथा अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण को कार्यालय पुलिस उपाधीक्षक वाराणसी को अस्थाई तौर पर कार्यस्थल आवंटित किया गया है। इसके अलावा वीआईपी सिल, यातायात पुलिस लाइन अथवा रिज़र्व पुलिस लाइन के चुनाव कार्यालय में स्थानांतरित किया जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *