दिल्ली में जारी है ऑक्सीजन की कमी से मौतों का सिलसिला, बत्रा अस्पताल में खत्म हुआ ऑक्सीजन, एक डाक्टर सहित 8 की हुई मौत

आफताब फारुकी

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना संक्रमण के दरमियान ऑक्सीजन की कमी का सिलसिला जारी है। आज ऑक्सीजन ख़त्म हो जाने से दिल्ली के एक अस्पताल में एक चिकित्सक सहित 8 कोविड पेशेंट्स की मौत ने इन्सानियत को हिला कर रख दिया है। तसव्वुर में ही रूह काप जाती है कि आखिर बिना ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखे गए मरीजों को जब ऑक्सीजन नही मिल रही होगी तो उनकी कैफियत क्या होगी। किस तरीके की बेचैनी मरीजों और उनके तीमारदारो को हो रही होगी। एक एक सेकेण्ड भारी पड़ रहा होगा। और आखिर में मौत आकर उनको अपने आगोश में ले लेती है।

दिल्ली के बत्रा अस्पताल में शनिवार दोपहर एक डॉक्टर समेत आठ कोविड-19 मरीजों की मौत कथित तौर पर ऑक्सीजन की कमी के कारण हो गई है। इस सप्ताह में दूसरी बार ऑक्सीजन की कमी के चलते मरीजों को अपनी जान गवानी पड़ी है। दिल्ली हाईकोर्ट में राजधानी दिल्ली में गहराते ऑक्सीजन संकट पर चल रही सुनवाई के दौरान अस्पताल के अधिकारियों ने बताया कि ऑक्सीजन रि-सप्लाई के लिए टैंकर अस्पताल में दोपहर 1।30 बजे पहुंचे, जिसके कारण अस्पताल के मरीज करीब 80 मिनट तक बिना ऑक्सीजन के ही रहे। कोर्ट को अस्पताल ने बताया कि दोपहर 12:45 बजे ऑक्सीजन के टैंकर खत्म हो गए थे। सप्लाई दोपहर 1:30 बजे पहुंची और हमारे मरीज करीब 80 मिनट बिना ऑक्सीजन के रहे।

कोर्ट ने जब कहा कि हमें उम्मीद है कि किसी की जान नहीं गई होगी, तो जवाब में अस्पताल ने बताया कि इस संकट में हमारे एक डॉक्टर की मौत हो गई थी। इससे पहले बत्रा अस्पताल के डायरेक्टर डॉ सुधांशु द्वारा एक SOS जारी किया गया था। जहां उन्होंने बताया था कि हमारी ऑक्सीजन खत्म हो रही है। फिलहाल कुछ आखिरी सिलेंडर बचे हैं, अगले 10 मिनट में अस्पताल में पूरी तरह से ऑक्सीजन खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि हम एक बार फिर ऑक्सीजन संकट में घिर गए हैं।

डॉ सुधांशु के अनुसार दिल्ली सरकार हमारी मदद कर रही लेकिन ऑक्सीजन के टैंकर अभी रास्ते में हैं और उन्हें पहुंचनें में वक्त लगेगा। दोपहर 12 बजकर एक मिनट पर अस्पताल ने कोर्ट को बताया कि हमारी ऑक्सीजन खत्म हो चुकी है। अस्पताल ने बताया कि सुबह से हम कठिन परिस्थितियों में हैं, हमारे अस्पताल में 307 मरीज एडमिट हैं, जिनमें से 230 ऑक्सीजन पर निर्भर हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *