चौकी इंचार्ज और अनवरगंज थाना प्रभारी कर रहे है मेरी संपत्ति पर अवैध निर्माण, कानपुर कमिश्नरेट पुलिस मुझे मेरी संपत्ति का किराया भी नही देती है – दीपक अग्रवाल

आदिल अहमद

कानपुर। कानपुर के अनवरगंज थाने से सम्बन्धित पुलिस चौकी बांसमंडी में चल रहा निर्माण कार्य अब विवादों के बीच घिरता दिखाई दे रहा है। खुद को पुलिस चौकी की संपत्ति का मालिकाना हक से सम्बन्धित कागज़ात दिखाने वाले दीपक अग्रवाल का दावा है कि पुलिस चौकी की संपत्ति उनकी अपनी पुश्तैनी संपत्ति है। मगर पुलिस कई दशको से न तो किराया दे रही है। न ही संपत्ति को खाली कर रही है। उन्होंने कहा कि और तो और बिना हमारी अनुमति के पुलिस चौकी में निर्माण भी करवाया जाता रहा है जो पूरी तरह से अवैध है।

दीपक अग्रवाल ने पत्रकारों से बात करते हुवे कहा कि पुलिस चौकी बॉसमंडी पहले थाना अनवरगंज हुआ करता था। वर्ष 1927 से लेकर वर्ष 1948 तक ये थाना था जो कागजातों में भी दर्ज है। इसके बाद यह पुलिस चौकी बॉसमंडी हो गई और थाना अन्यंत्र स्थानातरित हो गया। इस थाने के स्थानांतरित होने के बाद से इस संपत्ति का किराया भी कानपुर पुलिस नहीं देती है।

उन्होंने कहा कि सपत्ति पर बिना हमारी अनुमति से निर्माण कार्य होता रहता है जो अवैध है। पहले क्वाटर्स बन गये और हमारी अनुमति नही लिया गया। इसके बाद से इस संपत्ति पर अब मंदिर अन्दर बनवाया जा रहा है और फिर हमारी अनुमति नही लिया गया है। हम इस सम्बन्ध में अदालत का अब सहारा लेकर नोटिस सम्बंधित को जारी करवायेगे।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *