खौफ और दहशत का था लखनऊ में दूसरा नाम अनवर, सरेराह मारा गया एक आम युवक के हाथो, आरोपी हुआ गिरफ्तार

आदिल अहमद

लखनऊ: राजधानी के चौपटिया इलाके में उसकी दहशत चलती थी। लोग उसकी मुखालफत करना तो दूर रहा उसके परिवार के किसी से मुह नही लगते थे। जितनी उसकी उम्र थी उससे अधिक उसके ऊपर अपराधिक मामले दर्ज थे। साथी भी ऐसे जो हर समय अपने कमर पर असलहा रखते थे। आज उस दहशत की मौत आई और बीच सड़क पर एक आम युवक ने उसकी कनपटी पर गोली मार कर उसकी हत्या कर दिया। हत्या कर भाग रहे आरोपी पर मृतक कुख्यात के साथियों ने फायर करते हुवे आसपास के नागरिको की मदद से पकड़ लिया है। हत्यारोपी पुलिस हिरासत में है।

मामला सआदतगंज थानाक्षेत्र में कैंपवेल रोड का है। जहा पर आज शनिवार रात दोस्तों के साथ खड़े कुख्यात हिस्ट्रीशीटर अनवर उर्फ अन्नू की एक युवक ने गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात होते ही अनवर के दो साथियों ने भी असलहे निकालकर न सिर्फ फायरिंग की, बल्कि राहगीरों की मदद से हमलावर को घेरकर दबोच भी लिया है। पुलिस ने हमलावर को हिरासत में ले लिया है। मगर मिल रहे समाचारों के अनुसार मृतक कुख्यात के साथी जिन्होंने हमलावर पर गोली चलाया है वह पुलिस के गिरफ्त में फिलहाल नही है।

सआदतगंज थानाक्षेत्र के चौपटिया के तंबाकू मंडी मोहल्ला निवासी अनवर (35) एक ऐसा हिस्ट्रीशीटर था, जिसके नाम की इलाके में दहशत थी। अन्नू के मुखालिफ किसी के खड़े होने की हिम्मत नही थी। उसके खिलाफ सआदतगंज, चौक, ठाकुरगंज समेत कई थानों में उसकी उम्र से ज्यादा मुक़दमे थे, बताया जा रहा है कि अन्नू पर करीब 35 केस दर्ज हैं। आज शनिवार रात करीब आठ बजे वह कैंपवेल रोड पर वाजपेयी पूड़ी वाले की दुकान पर अपने साथी बजरंग सोनकर व चार अन्य दोस्तों के साथ समोसे खा रहा था। तभी सआदतगंज के गुल्लू शाह तकिया मोहल्ले में रहने वाला शारिक आया और अनवर से बातचीत करने लगा। इसी दौरान शरीक और कुख्यात अनवर की कहासुनी होने लगी। इस दरमियान जब तक कोई कुछ समझता, शारिक ने तमंचा निकालकर अनवर की कनपटी पर गोली मार दी। गोली लगते ही अनवर वही लुढ़क गया तो हमलावर दोबारा तमंचा लोड करके फायरिंग करते हुए भागने लगा।

इस पर अनवर के दो साथियों ने भी असलहे निकालकर फायरिंग करते हुए शारिक को दबोच लिया। घटना की सुचना मिलते ही सआदतगंज कोतवाली से इंस्पेक्टर शैलेंद्र कुमार पुलिस फोर्स लेकर मौके पर पहुंच गए और शारिक को हिरासत में ले लिया। सूचना पर एडीसीपी (पश्चिम) चिरंजीव नाथ सिन्हा, एसीपी चौक आईपी सिंह कई थानों की फोर्स लेकर मौके पर पहुंच गए। अनवर को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शारिक को सआदतगंज कोतवाली ले जाकर पूछताछ की गई। पुलिस सूत्रों के मुताबिक उसने बताया है कि छेड़छाड़ के मामले में वह कई दिन से अनवर से उसके छोटे भाई टीपू की शिकायत कर रहा था, लेकिन वह उसकी तरफदारी करता था। इसे लेकर शनिवार रात बातचीत के दौरान विवाद होने पर उसने अनवर को गोली मार दी। आरोपी के पास से .315 बोर का तमंचा बरामद हुआ है।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *