1 लाख का इनामिया दुर्दान्त अपराधी दीपक वर्मा हुआ मुठभेड़ में ढेर, चौबेपुर के निकट मिली एसटीऍफ़ को बड़ी सफलता, देखे मौके का फोटो

तारिक़ आज़मी

वाराणसी। वो खौफ का दूसरा नाम था। खुद को मौत का सौदागर कहलाता था। रईस बनारसी के मारे जाने के बाद उसने खुद का अपना साम्राज्य स्थापित कर रखा था। आखिर खौफ का अंत हुआ और आतंक का दूसरा नाम बना दीपक वर्मा पुलिस मुठभेड़ में ढेर हो गया।

मिल रहे समाचारों के अनुसार आज चौबेपुर थाना क्षेत्र के बरियासनपुर गाँव के पास रिंग रोड पर आतंक का दूसरा नाम दीपक वर्मा और एसटीऍफ़ का आमना सामना हो गया। एसटीऍफ़ के क्षेत्राधिकारी शैलेश सिंह के नेतृत्व में एसटीऍफ़ टीम दीपक वर्मा का पीछा कर रही थी। इस दरमियान रिंग रोड स्थित बरियासनपुर गाँव के निकट दीपक वर्मा ने पुलिस टीम पर शक होने पर गोली चला दिया।

जवाब में एसटीऍफ़ ने भी जवाबी फायरिंग किया। इस फायरिंग में खुद को आतंक का सरगना समझने वाला दुर्दांत अपराधी दीपक वर्मा ढेर हो गया। मिल रही जानकारी के अनुसार पुलिस को मौके पर असलहे भी बरामद हुवे है। बारिश के दरमियान पुलिस से हुई मुठभेड़ में गोलियों की आवाज़े सुनकर ग्रामीण अपने घरो में दुबक गए था। विस्तृत समाचार प्रतीक्षारत



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *