बहुविवादित गोगा कटरा प्रकरण : नहीं पेश हुआ हाई कोर्ट में विपक्ष, गज़ब है वीडीए का कानून देखे साहब, सील बिल्डिंग में स्थानीय जेई की कृपा दृष्टि से चल रहा जमकर काम, स्थानीय पुलिस को नही है जानकारी

शाहीन बनारसी

वाराणसी। वाराणसी के बेनियाबाग स्थित भीखाशाह गली जैसी पेचीदा दलीलों जैसी गली में निर्माणाधीन बहुविवादित गोगा कटरे के प्रकरण में हाई कोर्ट द्वारा जारी नोटिस के बावजूद विपक्ष 4 अक्टूबर को पड़ी तारिख पर पेश ही नही हुआ। दूसरी तरफ वाराणसी विकास प्राधिकरण ने कागजों पर भवन सीज कर रखा है। मगर दबंगई देखे और वाराणसी विकास प्राधिकरण के स्थानीय जेई की बड़ी हिम्मत देखे कि इस बहुविवादित भवन के ध्वस्तीकरण के आदेश होने के बाद और भवन सीज होने के बावजूद इस भवन में पिछले दो दिनों से जमकर निर्माण कार्य चल रहा है। भवन सीज होने के बाद स्थानीय पुलिस को इसकी सुचना नही दी गई है ऐसा हमारे सूत्र बताते है, तो पुलिस का हस्तक्षेप करने का सवाल ही नही पैदा होता है।

गौरतलब हो कि भीखाशाह गली स्थित सकरी सी गली में बहुमंजिली बिल्डिंग का निर्माण हो रहा है। शुरू से ही विवादित रहा इस भवन संख्या 46/67-A & 69,70 को मिला कर एक बड़ी संपत्ति पर बड़ा निर्माण चल रहा है। इस निर्माण के खिलाफ पड़ोस के भवन स्वामी और स्थानीय एक दुकानदार ने शिकायत करना शुरू किया। जिसके बाद विकास प्राधिकरण की नींद खुली और सुकून की नींद से जागा विकास प्राधिकरण इस भवन का संज्ञान लेता है और भवन को सील कर देता है। मामला बढ़ने लगा और प्रकरण में वाराणसी विकास प्राधिकरण ने भवन को ध्वस्तीकरण का आदेश पारित कर दिया।

प्रकरण आखिर हाई कोर्ट के चौखट को चूम बैठा और हाई कोर्ट ने इस मामले में अन्य 7 पक्षों को जिसमे भवन स्वामी और भवन का बिल्डर भी शामिल है को नोटिस जारी करके विगत 4 अक्टूबर को पेश होने का निर्देश दिया था। तारिख पर विपक्ष नही आया जिससे हाई कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करके अगली तारिख नियत कर दिया है। इस दरमियान बेचैन हुवे भवन स्वामी और ठेकेदार ने जमकर निर्माण कार्य शुरू करवा दिया। विकास प्राधिकरण के स्थानीय जेई और एसडीओ की भूमिका को संदिग्ध रखते हुवे निर्माण कार्य 24×7 के तर्ज पर चालु करवा दिया है। शनिवार होने के कारण वाराणसी विकास प्राधिकरण आज दोपहर में भी सोयेगा और और कल रविवार को विकास प्राधिकरण काम नही करता है। इस दरमियान दो दिन याने 48 घंटे लगातार सैकड़ो मिस्त्री और मजदूरों के साथ निर्माण कार्य जारी है।

इस सम्बन्ध में सबसे अधिक अचम्भे की बात ये निकल कर सामने आया है कि विकास प्राधिकरण ने भवन सीज करने के बाद स्थानीय पुलिस को इसकी सुचना ही नही दिया है। स्थानीय पुलिस के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वाराणसी विकास प्राधिकरण ने जेई साहब ने बड़ा खेल कर डाला और पुलिस की अभिरक्षा में इस भवन को सीज करने की जानकारी ही नही दिया। अब मामला ये है कि पुलिस इस मामले में जानकारी ही नही रखती है तो फिर वह कार्यवाही कैसे करेगी। वही वाराणसी विकास प्राधिकरण आज शनिवार को सो रहा है, कल रविवार को वह काम करेगा नही। मगर बहुविवादित भवन का निर्माण जारी है। देखना है खुद को इमानदारी का पूरा प्रमाण  पत्र देने वाले वाराणसी विकास प्राधिकरण के कर्मी आराम की नींद से जाग कर कार्यवाही करते है अथवा लाल हरे पत्तो पर आराम की नींद सोते रहेगे। फिलहाल युध्द स्तर पर निर्माण कार्य जारी है।

क्या कहती है तेज़तर्रार अधिकारी इशा दोहन

इस सम्बन्ध में हमने वाराणसी विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष ईशा दोहन से बात किया तो उन्होंने कहा कि प्रकरण मेरे संज्ञान में अभी तक नही था। आपके बताने के बाद मामले में संज्ञान आया है। मैं तत्काल मामले में जाँच करवाती हु। नियमो से किसी को भी खेलने नही दिया जायेगा। प्रकरण में सत्यता होने पर कड़ी कार्यवाही किया जायेगा।

 



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *