मासूम बेटी की आँखों के सामने पिता की हुई बस से कुचल कर दर्दनाक मौत, इंसानियत हुई शर्मसार जब किसी ने मृतक का गायब कर दिया 40 हजार रुपया

तारिक खान

प्रयागराज। प्रयागराज सिविल लाइन के निकट एक अनियंत्रित जनरथ बस से कुचल कर ४३ वर्षीय गुडू की मौत उसकी खुद की मासूम बेटी की आँखों के सामने हो गई। इस घटना में मासूम को भी मामूली चोट आई है। बस चालक मौके से फरार हो गया। सबसे अधिक शर्मनाक बात ये सामने आई कि मौत के बाद मृतक के पास से 40 हजार रुपया किसी ने गायब कर दिया।

घटना के सम्बन्ध में मिली जानकारी के अनुसार शिलाखाना निवासी नादिर मिया के पुत्र मो। जाकिर उर्फ गुड्डू (43) जो रसूलाबाद घाट के पास जनरल स्टोर चलाता था। रविवार शाम चार बजे  के करीब सामान खरीदने बाइक से चौक जा रहा था। गुड्डू के साथ उसकी पांच वर्षीय बेटी हुदा भी थी। बाप-बेटी हनुमान मंदिर के पिछले गेट के पास पहुंचे थे, तभी पीछे से आ रही बेकाबू जनरथ बस ने बाइक को टक्कर मार दी, जिससे पीछे बैठी मासूम छिटककर दूर जा गिरी जबकि गुड्डू सड़क पर गिर पड़ा और बस का पहिया उसके ऊपर चढ़ गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। आसपास के लोग दौड़े तो चालक बस से कूदकर भाग निकला। सूचना पर पुलिस पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया। हादसे में मासूम को भी हल्की चोटें आईं थी जिस पर उसे एसआरएन अस्पताल भेजकर उपचार कराया गया। सीओ सिविल लाइंस सुधीर कुमार ने बताया कि बस को कब्जे में ले लिया गया है। चालक की तलाश की जा रही है।

इस दरमियान इंसानियत को शर्मसार करने की एक और घटना भी घट गई। हादसे के दौरान मृतक के पास मौजूद 40 हजार रुपये किसी ने गायब कर दिए। मृतक की पत्नी के मुताबिक, जाकिर खरीदारी के लिए घर से 40 हजार रुपये लेकर निकला था। लेकिन पुलिस का कहना था कि उसकी जेब में कुछ ही रुपये मिले। अस्पताल में यह रुपये जब परिजनों को दिए गए तो उन्होंने पूरे रुपये मांगे। तब इस बात का खुलासा हुआ कि मृतक के 40 हजार रुपये गायब कर दिए गए। पुलिस का कहना है कि मृतक की जेब में जो रुपये मिले, वह परिजनों को वापस कर दिए गए। बाकी के बाबत जानकारी नहीं है। जबकि परिजनों का कहना था कि मृतक के पास 40 हज़ार रुपया और था जो अब नही मिल रहा है।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *