वाराणसी – प्रचंड भीड़ को संबोधित करने के लिए मंच पर पहुची प्रियका गांधी, देखे तस्वीरे और वीडियो – लाइव अपडेट में जाने क्या कहा अब तक प्रियंका गांधी ने

शाहीन बनारसी संग ए जावेद

वाराणसी. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हैं। रोहनिया के जगतपुर पीजी कॉलेज मैदान में प्रियंका गांधी की जनसभा के लिए भारी भीड़ उमड़ी है। कई लोग लखीमपुर घटना की तस्वीर लेकर पहुंचे हैं।

किसान न्याय रैली को संबोधित करने से पहले काशी विश्वनाथ मंदिर और मां कुष्मांडा के दरबार में हाजिरी लगाई। प्रियंका गांधी रोहनिया स्थित जगतपुर इंटर कॉलेज के मैदान में आयोजित किसान न्याय रैली को संबोधित करने लिए पहुंच गई हैं। थोड़ी देर पहले उनका संबोधन शुरू हो चूका है।

किसान न्याय रैली के मंच से कांग्रेस नेताओं ने योगी सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। प्रियंका गांधी के भाषण से पहले प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, विधायक आराधाना मिश्रा, पूर्व सांसद राजेश मिश्रा, पूर्व विधायक अजय राय समेत कई अन्य नेताओं ने भाजपा सरकार पर हमला बोला।

वाराणसी आगमन के तुरंत बाद सबसे पहले प्रियंका गांधी काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन के बाद मां कूष्मांडा के दरबार में पहुंच गई हैं। प्रियंका गांधी के आने के पहले दुर्गा मंदिर को खाली कराया गया। कूष्मांडा मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश को लेकर कांग्रेसियों में जमकर नोकझोंक हुई।  सेंट्रल बार के अध्यक्ष अशोक उपाध्याय और विधायक को रोकने पर विवाद हुआ। इधर, दुर्गाकुंड के पास भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी के खिलाफ नारे लगाए तो कांग्रेस के कार्यकार्ताओं ने विरोध जताया। इससे माहौल कुछ देर के लिए गर्म हो गया।

रोहनिया स्थित जगतपुर इंटर कॉलेज के मैदान में आयोजित किसान न्याय रैली को संबोधित करने के लिए प्रियंका गांधी पहुंच चुकी हैं। मंच पर उनके साथ भूपेश बघेल समेत कई नेता मौजूद हैं। रैली में मौजूद कार्यकर्ता लगातार नारेबाजी करते रहे।

पत्रकार वार्ता में प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे अजय कुमार लल्लू

जगतपुर इंटर कालेज परिसर में किसान न्याय यात्रा को संबोधित करने के लिये प्रियंका गांधी वाड्रा के आगमन के मद्देनजर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार सिंह ‘लल्लू’ के द्वारा सर्किट हाउस में आयोजित प्रेसवार्ता में मीडिया को जानकारी देने से पूर्व लखीमपुर खीरी मामले को लेकर सरकार को घेरा।इस दौरान हाथरस की घटना का जिक्र करते हुए यहां भी सरकार और उठाई उंगली इस दौरान प्रदेश सरकार ने राहुल / प्रियंका गांधी पर लाठियां भी चलाई।कानपुर के व्यवसायी की हत्या मैनपुरी में बालिका की हत्या व महोबा के व्यापारी की हत्या में दोषी पुलिस अफसर की गिरफ्तारी भी अब तक नही हो सकी और अन्य घटनाओं में जब दबाव बना तो सीबीआई जांच की सिफारिश कर सरकार ने आप के कर्तव्यों की इतिश्री कर ली यह प्रदेश के ध्वस्त कानून व्यवस्था व जंगलराज को स्पष्ट करता नजर आ रहा है।

प्रियंका के अब तक के भाषण में मुख्य बाते

प्रियंका गांधी रोहनिया स्थित जगतपुर इंटर कॉलेज के मैदान में किसान न्याय रैली को संबोधित कर रही हैं। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बाद प्रियंका गांधी ने माइक संभाला। संबोधन में सबसे पहले देवी दुर्गा का आह्वान किया। मंत्रों का उच्चारण कर जयकारे लगाए। प्रियंका गांधी ने सोनभद्र के उम्भाकांड का जिक्र कर कहा कि मैं अपने दिल की बात करने आई हूं।

प्रियंका ने कहा कि वो नजारा आज तक नहीं भूली। लखीमपुर में भी ऐसा ही हुआ। गृह राज्यमंत्री के बेटे ने किसानों को कुचल दिया।  प्रियंका गांधी ने कहा कि मैंने लखीमपुर जाने की कोशिश की तो हर तरफ पुलिस की घेराबंदी थी। लेकिन अपराधी को पकड़ने के लिए कोई नहीं निकला।कृषि कानूनों का जिक्र कर कहा कि मोदी जी के अरबपति मित्रों ने पिछले साल हिमाचल से सेब को 88 रुपये प्रतिकिलो खरीदे थे। लेकिन इस बार जब लागत महंगी है तो वही सेब 77 रुपये प्रति किलो खरीद रहे हैं। वो अपने मन से सेब के दाम तय कर रहे हैं। इससे किसानों का भला हुआ क्या?

प्रियंका ने कहा कि लखीमपुर में मैं जब किसान नक्षत्र सिंह के घर गई तो परिवार ने बताया कि उनका बेटा बीएसएफ में दाखिल हुआ है। जब मैं रमन कश्यप पत्रकार के घर गई तो बताया गया कि उन्हें जीप के नीचे कुचला गया। क्योंकि वे सच का वीडियो बना रहे थे। मैं सरकार से पूछती हूं कि घटना का दोषी कौन है।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *