सुनो द्रौपदी, शस्त्र उठा लो, अब गोविन्द न आयेंगे: प्रियंका गाँधी

शाहीन बनारसी (इनपुट- आदिल अहमद)

कानपूर। धार्मिक नगरी चित्रकूट स्थित मन्दाकिनी के तट पर आज प्रियंका गाँधी ने विश्व की आधी आबादी महिलाओं में जमकर जोश भरा। उन्होंने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि सुनो द्रौपदी अब तुम्हे शस्त्र उठाना होगा, क्योकि तुम्हारी रक्षा के लिए अब गोविन्द नहीं आयेंगे। आज बुधवार को धर्म नगरी चित्रकूट पहुंची प्रियंका ने सभा के पूर्व स्वामी मतस्य गजेन्द्र नाथ मंदिर में पूजन-अर्चन कर सभी का अभिवादन किया और वहां से सीधे मन्दाकिनी तट पर बने मंच पर पहुंची।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी ने भारी हुजूम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में कानून की स्थिति बहुत ख़राब हो चुकी है। खाद की लाइन में खड़े-खड़े कई लोगो ने अपनी जान गवाई है। कोरोना काल में भी भाजपा सरकार फ्लॉप रही है। इस दरमियान उन्होंने अपना प्रतिज्ञा पत्र पढ़कर सुनाते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार आते ही किसानो का पूरा क़र्ज़ माफ़ कर दिया जायेगा। अपने संबोधन के दौरान विशेष रूप से महिलाओं में जोश भरते हुए उन्होंने कहा कि “बहुत हुआ इंतज़ार, अब सुनो द्रौपदी, शस्त्र उठा लो, अब गोविन्द नहीं आयेंगे।” उन्होंने कहा कि औरो से कब तक आस लगाओगी और उनसे रक्षा मांगोगी।

प्रियंका गाँधी ने कहा कि दुशासन दरबारों से कैसी रक्षा मांग रही हो। महिलाओ को एक जुट होकर राजनीत में अपना हक़ मांगना चाहिए। कांग्रेस पार्टी इन विधानसभा चुनावों में 40 फीसद टिकट महिलाओं को देगी। इस दरमियान प्रियंका गाँधी ने महिलाओं के खिलाफ हो रही हिंसा पर कहा कि इसके मुखालिफ महिलाओं को खड़े होना चाहिए। आज की राजनीत ने नफरत फैला दी है। लखीमपुर काण्ड में एक केन्द्रीय मंत्री में बेटे ने किसानो को मारा है। सियासत में हिंसा खत्म करने के लिए महिलाओं को आगे आना ही होगा।

इस दरमियान महिलाओं से चर्चा करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी ने कहा कि भाजपा शासनकाल में महिलाओं की कोई कद्र नहीं बची है। कार्यक्रम में आई प्रियंका गाँधी से संवाद करते हुए बिठारी गाव की गिरजा देवी और आँगन बाड़ी कार्यकर्ती मिथिलेश देवी ने अपनी व्यथा बताई। जिस पर प्रियंका गाँधी ने कहा कि उनके कार्यो की कोई भी वैल्यू प्रदेश सरकार के नज़र में नहीं है और उनका मानदेय भी नहीं दिया जा रहा है।

प्रियंका गाँधी ने अपनी इस सभा के माध्यम से महिलाओं पर अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश किया है। भीड़ को देख कर सभा पूरी तरीके से सफल समझ में आ रही है। अभी ये जूटा हुआ हुजूम वोट में तब्दील होता है या नहीं, ये आने वाला समय ही बताएगा।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *