अजब प्रेम की गज़ब कहानी: प्रेमी और पति संग मिल महिला ने रची थी अपने पुराने प्रेमी के हत्या की साजिश, पति ने आत्मग्लानी में कर लिया आत्महत्या

शाहीन बनारसी (इनपुट: सिद्धार्थ शर्मा)

मेरठ। जनपद में अजब प्रेम की गज़ब कहानी सामने आई है। एक महिला ने अपने पूर्व प्रेमी की हत्या की ऐसी साजिश रची जिसमे उसने अपने वर्त्तमान प्रेमी और पति को भी अपने साथ लिया और फिर पुराने प्रेमी की हत्या करवा दिया। अजय हत्याकांड में पुलिस ने जब महिला से पूछताछ किया और जो राज़ खुल कर सामने आये वह पुलिस को चौकाने के लिए काफी है।

अजय हत्याकांड के सम्बन्ध में जो पुलिस को जानकारी मिली है वह पूरी कहानी जानकार सभी हैरान हो गए है। निवासी दधेडू कलां चरथावल मुजफ्फरनगर निवासी अजय को मेरठ में बुलाकर महिला व उसके पति ने मौत के घाट उतार दिया। पीड़ित परिवार की शिकायत पर 20 दिन बाद मुजफ्फरनगर पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर पूछताछ किया। तब जाकर युवक का शव दौराला थाना क्षेत्र के अख्यितारपुर-सिमौली गांव मार्ग स्थित सूखी पड़ी काली नदी में गड्ढा खोदकर बरामद कर लिया। इस वारदात में महिला का दूसरा प्रेमी भी शामिल था। महिला के पति ने एक सप्ताह पहले खुदकुशी कर ली।

अजय हत्याकाण्ड के आरोपी बिरजू और उसकी पत्नी सविता का परिवार पिछले दो दशक से मेरठ के अख्तियारपुर में ननिहाल में रहता था। जबकि महिला के जेठ और देवर दो भाई दधेडू रहते हैं। महिला पति संग गांव आती-जाती रहती थी। करीब दो-तीन साल पहले गांव में आने के दौरान महिला के संबंध दधेडू में पड़ोसी युवक अजय से हो गए थे। इस बीच दोनों में मुलाकात होती रही। इस बात का पता पति बिरजू और उसके दूसरे प्रेमी राजवीर को लगा, तो तीनों ने मिलकर साजिश के तहत हत्या को अंजाम दे डाला।

गौरतलब हो कि मुजफ्फरनगर के चरथावल थाना क्षेत्र के दधेडू कलां गांव निवासी अजय (21) पुत्र रमेश 13 नवंबर से लापता हो गया था। परिजनों ने अजय को काफी ढूंढा और फिर उसके भाई विक्रांत ने आठ दिन बाद 21 नवंबर को चरथावल थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। शुक्रवार देर शाम विक्रांत ने पड़ोस की रहने वाले ब्रजपाल उर्फ बिरजू व उसकी पत्नी सविता पर अपने भाई के अपहरण करने और हत्या का शक जताकर आरोप लगाया। बिरजू अपने मामा के घर दौराला थाना क्षेत्र के अख्तियारपुर गांव में पत्नी सविता के साथ कई महीने से रह रहा है। पुलिस ने लापता अजय के मोबाइल की सीडीआर निकाली। जिसमें उसकी आखिरी लोकेशन दौराला में बताई गई।

मुजफ्फरनगर से एएसपी कृष्ण कुमार विश्नोई ने रात में ही पुलिस मेरठ भेज दी। मुजफ्फरनगर की पुलिस ने सविता को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ शुरू किया। पूछताछ में महिला ने बताया कि अजय के साथ उसके तीन साल से संबंध थे। अब वह संबंध तोड़ना चाहती थी, लेकिन अजय उसको ब्लैकमेल करने लगा था। महिला ने यह बात पति से बताई और फिर दोनों दंपती ने मिलकर उसकी हत्या की प्लानिंग किया। अजय को मुख्तियारपुर गांव में महिला ने बुलाया। दंपती ने हत्या किया और फिर मुख्तियारपुर-सिमौली गांव मार्ग स्थित काली नदी में गड्ढा खोदकर दबा दिया। महिला की निशानदेही पर मुजफ्फरनगर पुलिस ने शनिवार को अजय का शव बरामद किया।

पुलिस का दावा है कि अजय की हत्या में सविता और उसके पति के अलावा उसका दूसरा प्रेमी राजबीर भी शामिल था। राजबीर दुल्हैड़ा पल्लवपुरम का निवासी है। जिसको महिला मुंहबोला भाई बताती थी। लेकिन महिला से उसके साथ अवैध संबंध थे। पति और दूसरे प्रेमी के साथ मिलकर महिला ने अजय को मारा है।

फसने के डर से पति ने किया आत्महत्या

इस घटना के बाद सविता के पति बिरजू को आत्मगलानी होने लगी और फसने का डर सताने लगा। जिसके बाद सविता के पति बिरजू ने 27 नवंबर को ही आत्महत्या कर ली। सविता ने बताया कि अजय की हत्या के बाद से बिरजू काफी डरा हुआ था। वह बार-बार कहता था कि वह फंस जाएगा। पुलिस उसको गिरफ्तार कर लेगी। जिसके चलते वह डिप्रेशन में था।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *