वसीम रिज़वी व नरसिंहानंद के खिलाफ मुस्लिम समुदाय ने किया विरोध प्रदर्शन, एसडीएम को ज्ञापन सौंप कर किया मुक़दमा दर्ज करने की मांग

फारुख हुसैन

लखीमपुर खीरी। पूरे विश्व में शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी के द्वारा व लिखी गई किताब व उसके विमोचन को लेकर मुस्लिम समुदायों में जमकर आक्रोश देखने को मिल रहा है। जिसको लेकर वह लगातार प्रदर्शन कर वसीम रिज़वी व नरसिहानंद पर कार्यवाही की मांग कर रहे हैं। इसी को लेकर लखीमपुर खीरी जिले के पलिया तहसील में भी मुस्लिम समुदायों में वसीम रिज़वी व उसके विमोचन कर्ता नरसिंहानंद के खिलाफ जमकर आक्रोश देखने को मिल रहा है।

जिसके चलते बीते दिन शुक्रवार को पलिया तहसील की तहरीके तहफ्फुज़े रिसालत एक्शन ट्रस्ट के बैनर तले सैकड़ों की संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नगर के मुख्य मार्गों पर जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की। जिसके बाद वह पलिया तहसील पहुंचे। जहां पर उन्होंने ने गुस्ताख-ए-रसूल वसीम रिज़वी व नरसिंहानंद के खिलाफ जमकर प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री से संबोधित एक ज्ञापन एसडीएम डॉ0 अमरेश कुमार को सौंप कर वसीम रिजवी व नरसिंहानंद के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने व उन पर एफ आई आर दर्ज कर मुकदमा करने की मांग की है।

ज्ञापन के माध्यम से बताया गया है कि वसीम रिज़वी आये दिन इस्लाम धर्म, कुरआन व पैगंबर मोहम्मद साहब (स0ल0) पर अभद्र टिप्पणी करता है। पिछले दिनों वसीम रिजवी द्वारा पैगंबर मोहम्मद साहब पर विवादित किताब मोहम्मद लिखी है। जिससे भारत का मुस्लिम ही नहीं पूरे विश्व भर के मुस्लिम व मुस्लिम धर्मगुरु नाराज हैं। वहीं वसीम ने विवादित किताब लिखकर गाजियाबाद के काली मंदिर में यति नरसिंहानंद से उक्त किताब का विमोचन करवाया, जिससे मुस्लिम समाज में भारी रोष व्याप्त है।

साथ ही दो समुदायों में द्वेषता उत्पन्न होने का भी खतरा है। मामले में वसीम रिजवी यति नरसिंहानंद के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने दो समुदाय में द्वेषता उत्पन्न करने को लेकर ऍफ़आईआर दर्ज करने के साथ ही उनपर रासुका लगाई जाए, जबकि विवादित किताब की प्रतियों को धारा 95 में दी हुई शक्तियों का प्रयोग करें, प्रतियों को अधिग्रहित किया जाए। मामले में पुलिस को तहरीर देकर दोनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। इस दौरान भारी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग मौजूद रहे।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *