विश्व एड्स दिवस पर हुआ शिविर का आयोजन, की गई काउंसिलिंग, एचआईवी की जांच व प्रचार-प्रसार के लिए बनी हेल्प डेस्क  

आदिल अहमद

कासगंज।  ततारपुर के कांशी राम नगर कॉलोनी में विश्व एड्स दिवस पर बुधवार को  जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ सीएल यादव की अध्यक्षता में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन हुआ। एचआईवी कॉउंसलर हरी सिंह यादव ने द् एच आई वी के लक्षण व बचाव के उपाय बताते हुए 55 लोगों की काउंसलिंग की। जागरूकता शिविर का आयोजन ततारपुर की कांशीराम कॉलोनी में गोविन्द सेवा समिति के सहयोग से किया गया। इसमें एचआईवी/एड्स और कोविड-19 के लिए जनजागरूकता स्टॉल लगाए गए और कोरोना व एड्स से बचाव के बारे मे समझाया गया।

जिला क्षय रोग अधिकारी ने बताया कि एचआईवी/एड्स और कोविड-19 से बचाव और जागरुकता के लिए आयोजित शिविर के दौरान चलचित्र, पोस्टर, बैनर और फ्लेक्स के माध्यम से लोगों को इन बीमारियों के बारे में समझाया गया। जिला क्षय रोग अधिकारी ने आम जनता को बताया कि एड्स कोई छुआछूत की बीमारी नहीं है। इस पर नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य विभाग ठोस कार्य कर रहा है।

जिला क्षय रोग कार्यक्रम समन्वयक धर्मेंद्र यादव ने बताया कि आम आदमी को एड्स रोगी से दूरी नहीं बनानी है, और उसके साथ कोई  भेदभाव का व्यवहार नहीं करना है। इसके साथ ही कोविड-19 से बचाव के उपायों के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी गई कि सामाजिक दूरी बनाए रखें, मास्क का प्रयोग ज़रूर करें और भीड़ भाड़ वाली जगह पर जाने से बचें।

एचआईवी काउंसलर हरी सिंह ने बताया कि एचआईवी पॉजिटिव से न करें भेदभाव, बहुत सारे लोग समझते हैं कि एड्स पीड़ित व्यक्ति के साथ खाने, पीने, उठने, बैठने से हो जाता है एड्स जो कि पूरी तरह गलत है। यह समाज में एड्स के बारे में फैली हुई भ्रांतियां हैं। सच तो यह है कि रोजमर्रा के सामाजिक संपर्कों से एचआईवी नहीं फैलता जैसे कि पीड़ित के साथ खाने-पीने से, बर्तनों की साझीदारी से, हाथ मिलाने या गले मिलने से, एक ही टॉयलेट का प्रयोग करने से, मच्छर या अन्य कीड़ों के काटने से।

 कार्यक्रम में जिला टीबी एचआईवी समन्वयक हेमेंद्र सिंह, डीपीसी धर्मेंद्र यादव, डब्ल्यूएचओ कंसल्टेंट नीतू, राजीव पचौरी एसटीएल्स, भगवान सिंह, अनिल, पंकज, संतोष कुमार, शिवरतन सिंह, आईसीटीसी काउंसलर हरी सिंह, गोविन्द सेवा समिति, अरविन्द कुमार, स्टाफ नजमा, शिखा,  पूजा, रुखसार, तनु, वैष्णवी, नदीम, तन्मय, अहाना परियोजना खुशबू, आईसीटीसी एलटी रितुआदि मौजूद रहे।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.