अग्निपथ योजना के खिलाफ “बिहार बंद” हुआ हिंसक, कई इलाको में विरोध प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प की खबरे

अनिल कुमार

पटना: सेना में भर्ती के लिए लाई गई नवीनतम अग्निपथ स्कीम के खिलाफ देश के विभिन्न हिस्सों में लगातार चौथे दिन आज शनिवार को भी विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इस विरोध प्रदर्शन में आज बिहार बंद का आह्वाहन हुआ है। जिसके तहत बंद पूरी तरह से प्रभावी दिखाई दे रहा है। बिहार बंद के दौरान पटना जिले के पटना-गया रेलखंड पर तारेगना रेलवे स्टेशन पर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच जबरदस्त भिड़ंत का समाचार आ रहा है।

बताते चले कि इस बंद का समर्थन मुख्य विपक्षी दल राजद और वाम दलों के अलावा एनडीए के घटक दल हिंदुस्तान आवाम मोर्चा और विकासशील इंसान पार्टी ने भी बंद का समर्थन किया है। जिन छात्र संगठनों ने आज राज्य बंद बुलाया है उनमें आइसा, इनौस, एनएसयुआई, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा और सेना भर्ती जवान मोर्चा शामिल है।

प्रदर्शनकारियों ने जीआरपी थाने पर कब्जा कर लिया और कई गाड़ियों को फूंक दिया है। इस दरमियान उपद्रवियों को नियंत्रण में करने के लिए पुलिस द्वारा फायरिंग किये जाने की भी खबर आ रही है। उपद्रव के कारण पुलिस अधिकारी और पुलिस कर्मी खुद की सुरक्षा के लिए जीआरपी भवन में छिप गए है। बंद समर्थकों ने जहानाबाद जिले के टेहटा ओपी में जब्त वाहनो में आग लगा दी और वहां जमकर उत्पात मचाया। इस दौरान  पथराव भी किया गया।

जहानाबाद के डीएम और एसपी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे हैं। उत्तर प्रदेश के जौनपुर और चंदौली में भी आक्रोशित युवाओं ने नॅशनल हाईवे पर जमकर बसों में तोड़फोड़ की है। इसे देखते हुए वहां भारी पुलिस बल की मौके पर तैनाती की गई है। इस बीच, ‘अग्निपथ’ के खिलाफ तेज होते विरोध के मद्देनजर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सेना प्रमुखों के साथ आज मुलाकात की है।

उधर, अग्निपथ योजना पर बढ़ते बवाल को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अहम ऐलान किया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कहा गया है कि CAPFs और असम राइफल्स में होने वाली भर्तियों में अग्निवीरों के लिए 10% आरक्षण दिया जाएगा। साथ ही अधिकतम प्रवेश आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट देने का निर्णय किया है। अग्निपथ योजना के पहले बैच के लिए यह छूट 5 वर्ष होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.