अफगानिस्तान में आये भूकंप में मृतकों की संख्या हुई 900 के पार, हर तरफ तबाही का है मंज़र, देखे तस्वीरे

तारिक खान

डेस्क: अफगानिस्तान में आज आये भूकंप ने ज़बरदस्त तबाही मचाई है। न्यूज़ एजेंसी रायटर्स के अनुसार इस भूकंप में 100 से अधिक घर ज़मीदोज़ हुवे है और 280 से अधिक लोगो के मौतों की पुष्टि किया है वही मीडिया रिपोर्ट्स को आधार माने तो 200 से अधिक घर जमीदोज हुवे है और लगभग 920 लोगो की इस मामले में मौत हुई है। बताते चले कि आज अफगानिस्तान में 6.1 मैग्नीट्यूड तिव्रता का भूकंप आया था।

न्यूज एजेंसी रायटर्स के हवाले से खबर है कि अफगानिस्तान में तीव्र भूकंप आने से 280 से अधिक लोगों की मौत हो गई है। वहीं 200 से अधिक लोग घायल हुये हैं। जबकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मृतकों की संख्या 920 से अधिक है जबकि हज़ारो के घायल होने की जानकारी सामने आ रही है। राहत और बचाव कार्य मौके पर जारी है। लोगों को बचाने और घायलों को अस्पताल में पहुंचाने का काम भी जारी है। अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण ने कहा कि बुधवार तड़के 6.1 तीव्रता के भूकंप ने घनी आबादी वाले अफगानिस्तान और पाकिस्तान के कुछ हिस्सों को हिला दिया। अफगान अधिकारियों ने कहा काफी लोगों के हताहत होने की आशंका है।

यूएसजीएस के अनुसार, भूकंप दक्षिणपूर्वी अफगानिस्तान के खोस्त शहर से लगभग 44 किमी (27 मील) दूर 51 किमी की गहराई पर आया। तालिबान प्रशासन के प्राकृतिक आपदा मंत्रालय के प्रमुख, मोहम्मद नसीम हक्कानी ने कहा कि वे आगे की जांच पूरी करने के बाद एक अपडेट देंगे। अफगानिस्तान के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने यहां भूकंप से 280 से अधिक लोगों के मौत की पुष्टि की है। मीडिया रिपोर्ट से मुताबिक मौतों का आंकड़ा अभी और भी बढ़ सकता है।

अफगानिस्तान के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया कि भूकंप से 100 से ज्यादा घर तबाह हो गये हैं। उन्होंने बताया कि बचाव कार्य में हेलीकॉप्टरों को लगाया गया है। वहीं सहायता के लिए एजेंसियों को आने के लिए कहा है। लेकिन भूकंप प्रभावित क्षेत्र दूरस्थ, इसलिए यहां मदद पहुंचने में थोड़ी देर हो रही है। बता दें कि 2015 में, सुदूर अफ़ग़ान उत्तर पूर्व में एक भूकंप आया था, जिसमें अफ़ग़ानिस्तान और निकटवर्ती उत्तरी पाकिस्तान में कई सौ लोग मारे गए थे। उसके बाद आज एक बार फिर ऐसा ही तीव्र धमता वाला भूकंप आया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.