अफसरों ने जल शक्ति अभियान “कैच द रैन” के तहत कराये कार्यो का किया स्थलीय सत्यापन

फारुख हुसैन

लखीमपुर खीरी: जल शक्ति अभियान के नोडल अधिकारी व डायरेक्टर (पीपीपी) मिनिस्ट्री आफ पोर्टस, शिपिंग एण्ड वाटरवेज प्रदीप कुमार राय एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक सेन्ट्रल ग्राउन्ड वाटर बोर्ड भारत सरकार मधुकर सिंह ने तीन दिवसीय जनपद भ्रमण (15 जून से 17 जून) के दौरान जनपद खीरी में जल शक्ति अभियान “कैच द रैन” के तहत कराये गये कार्यो का स्थलीय सत्यापन किया।

निरीक्षण के लिए नामित नोडल अधिकारियों ने सम्बन्धित जिला स्तरीय अधिकारियों के संग एसएसबी कैम्प कार्यालय में वन विभाग की ओर से कराये गये वृक्षारोपण कार्य, मनरेगा तालाब खेतौसा, भूमि संरक्षण विभाग के खेत तालाब ग्राम कोडरी तथा ब्लॉक बेहजम के अन्तर्गत ग्राम पंचायत देवरी में लक्ष्मी नारायण तालाब व ग्राम्य विकास विभाग द्वारा ब्लॉक बेहजम कार्यालय में निर्मित रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली का निरीक्षण किया।

नामित नोडल अधिकारी ने सीडीओ अनिल कुमार सिंह के साथ गत दिवस कलेक्ट्रेट सभागार में जल शक्ति अभियान कैच द रैन के कार्यों की समीक्षा की। नोडल अधिकारी ने कहा कि वर्षा जल की एक-एक बूंद को संचय किया जाये। इसके साथ ही घरेलू व अन्य कार्यों में जल के दुरूपयोग को रोका जाये, खेत के पानी को खेत में ही संचय किया जाये। बैठक में सीडीओ अनिल कुमार सिंह ने बताया कि तालाब व अमृत सरोवर कार्य 15 विकास खण्डों में युद्ध स्तर पर चल रहा है, जिनको शीघ्र ही पूर्ण करा लिया जाएगा।

वरिष्ठ वैज्ञानिक मधुकर सिंह ने रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली के नए प्रोजेक्ट की पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के जरिए भी जानकारी दी। बैठक में योजना से जुड़े अफसर, अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई सुभाष चंद्र, एक्सईएन सिंचाई राम बहादुर, डीसी मनरेगा, भूमि संरक्षण अधिकारी जिला योजना एवं गोमती, जिला कृषि अधिकारी अरविंद कुमार चौधरी, वरिष्ठ वैज्ञानिक कृषि विज्ञान केंद्र सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.