अरे गज़ब: न खाता न बही, जो बाहुबल कर जाए क्या वही सही ? बिजली विभाग ने उखाड़ा जो मीटर महज़ दो घंटे के बाद स्थानीय बिजली मिस्त्रियो ने वापस लगा दिया

अजीत शर्मा

वाराणसी: अजब गज़ब के आपने लाखो खेल देखे होंगे। मगर ऐसा कमाल तो सिर्फ बनारस के बाहुबली ही कर सकते है। कमाल भी अजब गज़ब का कि जिस विद्युत कनेक्शन को विभाग के जेई ने काट कर मीटर उखाड़ दिया। उसको महज़ 2 घंटे के अन्दर ही स्थानीय बिजली कर्मचारियों एक द्वारा वापस मीटर लगा कर जोड़ दिया गया। ये कारनामा वाराणसी के सराय हड्हा में हुआ है।

मामला कुछ इस प्रकार है कि भवन संख्या सीके 46/5 पर लाखो विद्युत बकाया है। इस बकाये के कारण भवन का विद्युत् कनेक्शन कटा हुआ है। जिसके कारण भवन में रहने वाले सभी हिस्सेदार जुगाड़ से मीटर लगवाना चाहते है। मगर किसी का मीटर नही लग पा रहा था। इस दरमियान इस बड़े बकाये के बाद भी इस भवन के एक हिस्सेदार ने अपना विद्युत कनेक्शन लगवा लिया। इस बात की जानकारी जब भवन के अन्य हिस्सेदारों को लगी तो उन्होंने इसके बाद विभाग में दौड़ना शुरू किया।

सभी हिस्सेदार चाहते थे कि जैसे उस व्यक्ति का बकाया होने के बाद भी विद्युत कनेक्शन लगा वैसे ही हमारा भी लग जाये। इस सम्बन्ध में 7 जून से ही इस सम्बन्ध में भवन के अन्य हिस्सेदार दौड़ रहे थे कि हमारा भी विद्युत कनेक्शन लग जाये। बकाया बाद में जमा होगा। मगर मामला यही अटका था कि भवन पर बकाया है तो फिर कैसे कनेक्शन मिल जायेगा। मामला स्थानीय जेई पिंटू सिंह के संज्ञान में आया तो उन्होंने मामले में तफ्तीश किया और जो निकल कर सामने आया वह वाकई ज़बरदस्त चौकाने वाला रहा।

भवन संख्या सीके 46/5 के पास भवन संख्या सीके 46/3 है जो निर्माणाधीन है। इस भवन के विद्युत कनेक्शन को सीके 46/5 पर लगवा कर बिजली का लुत्फ़ लिया जा रहा था। यह जानकरी जब पिंटू सिंह को लगी तो मौके पर वह पहुचे और मीटर वहा से उखडवा दिया। इसी बीच बताया जाता है कि बाहुबल में मजबूत उक्त भवन स्वामी द्वारा बिजली विभाग के कर्मचारियों से मीटर छीन लिया गया। कुछ देर जद्दोजेहद हुई और फिर मीटर जो उखड चूका था और भवन स्वामी ने उसको अपने कब्ज़े में ले लिया था को छोड़ कर कर्मचारी चले गए।

स्थानीय एक दुकानदार ने नाम न ज़ाहिर करने के शर्त पर बताया कि इसके बाद बहुबल ने अपने जुबान का बल ज़बरदस्त दिखाया। जुबानी खानापूर्ति के बाद महज़ एक घंटा ही गुज़रा था कि स्थानीय एक बिजली कर्मी जो काफी चर्चित है के द्वारा आकर वह मीटर दुबारा कनेक्शन के साथ लगा दिया गया। इसको कहते है असली बाहुबली। न खाता न बही, जो बाहुबल कर जाए वही सही। तो लगे रहो बाहुबली। अब देखना होगा कि जेई पिंटू सिंह द्वारा क्षेत्र में लागू नियम काम आता है अथवा बाहुबल बड़ा होता है। शायद पिक्चर अभी पूरी की पूरी बाकी है। वैसे नियमो के तहत इस प्रकार के मामले में धोखाधड़ी की अपराधिक धाराये बनती है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.