बिग ब्रेकिंग: विश्व वैदिक सनातन संघ प्रमुख जितेंद्र सिंह “विसेन” का बड़ा खुलासा: अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन हिंदुत्व के नाम पर ज्यादा से ज्यादा रुपया इकठ्ठा करना चाहते है

तारिक़ आज़मी

वाराणसी: विश्व वैदिक सनातन संघ प्रमुख जीतेन्द्र सिंह “विसेन” द्वारा व्हाट्सअप पोस्ट के माध्यम से एक बड़ा खुलासा करते हुवे कहा है कि अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन का उद्देश्य हिंदुत्व नही बल्कि हिदुत्व के बल पर अधिक से अधिक धन इकठ्ठा करना है। यही नही उन्होंने आरोप लगाया है कि आगमी 2027 के चुनावों में हरिशंकर जैन द्वारा योगी आदित्यनाथ को सत्ता से हटा कर सत्ता हासिल करना मकसद है।

उस सम्बन्ध में कुछ चैट हिस्ट्री के स्क्रीन शॉट भी जीतेन्द्र सिंह “विसेन” ने शेयर किया है। जिसके द्वारा उन्होंने दावा किया है कि हरिशंकर जैन “सत्ताईस में सत्ता” का नारा दे रहे है। विसेन का आरोप है कि हरिशंकर जैन हिंदुत्व के बल पर सत्ता हासिल करना चाहते है। उन्होंने हिंदुत्व का मुद्दा सिर्फ और सिर्फ सत्ता हासिल करने के लिए उठाया है।

वही जीतेन्द्र सिंह विसेन ने दावा किया है कि अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन का उद्देश्य हिंदुत्व के मुद्दे को सामने रखकर ज्यादा से ज्यादा धन कमाने का है। इस आरोप के समर्थन में विसेन द्वारा कुछ स्क्रीन शॉट भी शेयर किया गया है। हम व्हाट्सएप चैट के इस स्क्रीन शॉट की सत्यता तो पुष्ट नही करते है। मगर जिस स्क्रीन शॉट को हरिशंकर जैन से सम्बन्धित बताया जा रहा है उसमे “सत्ताईस में सत्ता” का नारा दिया गया है।

वही एक अन्य स्क्रीन शॉट में एक अकाउंट नम्बर की डिटेल दिया गया है और आरोप है कि इस अकाउंट में पैसे मंगवाए जाते है। सब मिलकर विसेन ने दावा किया है कि हरिशंकर जैन जहा हिंदुत्व को मुद्दा बना कर सत्ता हासिल करना चाहते है। वही दुसरे तरफ विष्णु शंकर जैन हिंदुत्व के मुद्दे को धुरी बना कर अधिक से अधिक धन कमाना चाहते है। विसेन के दावो को अगर आधार माने तो अधिवक्ता हरिशंकर जैन और अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन के लिए हिंदुत्व मुद्दा नही बल्कि निजी स्वार्थ ही मुद्दा दिखाई दे रहा है।

इस सम्बन्ध में हमारी बात अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन से फोन पर हुई तो उन्होंने जीतेन्द्र सिंह विसेन के आरोपों को जानकार कहा कि “हमे उनके किसी भी लगाये हुवे आरोपों का जवाब नही देना है। वह जो भी आरोप लगा सकते है, लगाये। हम किसी भी उनके आरोपों का कोई भी जवाब नही देना चाहते है। उनकी इच्छा जो आरोप लगाना चाहते है वह लगा सकते है।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.