महज 12 घंटे के अन्दर किया कानपुर कमिश्नरेट पुलिस ने डबल मर्डर का सफल खुलासा: इश्क का चढ़ा था गोद ली हुई बेटी को ऐसा खुमार कि आशिक के साथ मिलकर किया पालनहार माता पिता की हत्या

आदिल अहमद

कानपुर: इश्क का नशा उसको ऐसा चढ़ा था कि जिस दंपत्ति ने उसको पैदा तो नही किया था मगर अपनी औलाद समझ कर पाल पोस कर बड़ा किया था, उनकी ही हत्या उसने अपने आशिक के साथ मिल कर कर दिया। क्या कहेगे इसको आप…? बेशक इसकी तुलना आप किसी लफ्ज़ से करे, मगर इसको कलयुग कहा जायेगा। जिसने दुनिया की सभी नेमते देकर पाला पोसा उसका कत्ल चंद वक्त के इश्क की खातिर कर देना, बेशक इंसानियत को झकझोर देने वाला है।

गौरतलब हो कि कानपुर की बर्रा-2 ईडब्ल्यूएस कॉलोनी में सोमवार देर रात गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। वारदात की जानकारी मिलने के बाद मामले में पुलिस ने अपनी जाँच शुरू किया तो मृत दंपत्ति की गोद ली गई बेटी के बयान काफी भ्रामक समझ आने लगे थे। घटना में वह अपने भाई और पुलिस को गुमराह कर अज्ञात युवकों पर हत्या करने का आरोप लगा रही थी। पुलिस ने साक्ष्यों के आधार पर मंगलवार दोपहर उसको हिरासत में लेकर जब पूछताछ की तो देर शाम उसने सच उगला।

पुलिस का दावा है कि प्रॉपर्टी हथियाने के लिए माता-पिता की हत्या की। मूलरूप से सरसौल के प्रेमपुर गांव निवासी मुन्ना लाल उत्तम (60) पत्नी राजदेवी (55) 26 साल के बेटे अनूप और गोद ली हुई बेटी कोमल (24) के साथ बर्रा दो ईडब्ल्यूएस कॉलोनी में रहते थे। छह माह पहले वह विजय नगर स्थित फील्ड गन फैक्टरी के सिक्योरिटी सुपरवाइजर पद से सेवानिवृत्त हुए थे। पुलिस के मुताबिक सोमवार रात एक से दो बजे के बीच कोमल ने दरवाजा खोलकर अपने प्रेमी रोहित को घर के भीतर दाखिल कराया।

दोनों ने मिलकर मुन्ना लाल व राजेदवी को मारापीटा और फिर गला रेत दिया। उसके बाद रोहित वहां से निकल गया। रोहित के जाने के करीब दस मिनट बाद कोमल ने पहली मंजिल पर सो रहे भाई अनूप को माता-पिता की हत्या की जानकारी दी। तब अनूप ने पुलिस को बुलाया। अनूप के अनुसार रात करीब ढाई बजे बहन उसके पास चीखती हुई पहुंची और बताया कि तीन लोग घर में घुस आए थे, जिन्होंने मम्मी-पापा की हत्या कर दी। अनूप ने पड़ोसी विवेक के जरिये पुलिस को सूचना दिलाई। इस दौरान उसका सिर भारी भारी लग रहा था। कोमल ने पुलिस को बताया कि रात में उसने भाई के जूस में भी जहर मिलाया था लेकिन वह बच गया।

कोमल ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश भी खूब की। वारदात के बाद उसने अनूप की पत्नी के भाइयों पर हत्या का आरोप मढ़ दिया। पुलिस ने आनन-फानन में दो पर नामजद रिपोर्ट भी दर्ज कर ली। ऐसा उसने इसलिए किया क्योंकि अनूप और उसकी पत्नी का विवाद चल रहा है। पुलिस अब उनके नाम एफआईआर से हटाएगी।प्रकरण में पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा ने कहा कि दंपती हत्याकांड में उनकी बेटी के खिलाफ पर्याप्त सुबूत हैं। उसी आधार पर उसको गिरफ्तार किया गया है। उसका प्रेमी फरार है। प्रॉपर्टी विवाद में वारदात को अंजाम दिया गया है। मामले में नामजद एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.