थारू आदिवासी सैकड़ों महिलाओं ने पलिया में जुलूस निकाल उप-जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन

फारुख हुसैन

पलिया(खीरी): दुधवा नेशनल पार्क के जंगलों के मध्य में सदियों से आबाद ग्रामों की आदिवासी थारू जनजाति की सैकड़ों महिलाओं व पुरुषों ने अखिल भारतीय वन-जन श्रमजीवी यूनियन से संबद्ध थारू आदिवासी महिला मजदूर किसान मंच के बैनर लेकर नगर की सड़कों पर जबर्दस्त नारेबाजी करते हुए जुलूस निकाला और मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश शासन को संबोधित अपनी मांगों भरा ज्ञापन उपजिलाधिकारी पलिया रेनू सिंह को सौंपा।

उप-जिलाधिकारी को दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि देश के वनाश्रित समुदायों की एक लंबे समय से चली आ रही मांग और जनवादी संघर्षों के कारण देश की संसद ने 15 दिसंबर 2006 को अनुसूचित जनजाति एवं अन्य परंपरागत वन निवासी वनाधिकारों की मान्यता कानून 2006 पास किया था जिसे जम्मू-कश्मीर छोड़कर सभी प्रांतों में 01 जनवरी 2008 को लागू कर दिया गया, किंतु यहां वन विभाग द्वारा इस बदलावकारी कानून के क्रियान्वयन में लगाई जा रही।

अड़चनों के कारण क्रियान्वयन की प्रक्रिया अभी भी अधर में लटकी हुई है। जबकि यहां के 20 थारु गांवों ने वनाधिकार कानून की नियमावली संशोधन 2012 के तहत 31 जुलाई 2013 को अपने दावे प्रस्तुत किए थे, किंतु वन विभाग द्वारा लगाई गई आपत्तियों के कारण 15 मार्च 2021 को हमारे दावों को निरस्त कर दिया गया और इसकी सूचना भी नहीं दी गई। तत्पश्चात जिलाधिकारी द्वारा भेजे गए निरस्तीकरण पत्र में दर्शाई गई।

आपत्तियों के जवाब में मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन( अध्यक्ष राज्य निगरानी समिति वनाधिकार) व जिलाधिकारी खीरी (अध्यक्ष जिला स्तरीय वनाधिकार समिति ) को सभी 20 गांवों की तरफ से जवाब डाक द्वारा भेजे गए। किंतु आज तक उन पर क्या कार्यवाही हुई, अवगत नहीं कराया गया। इन्हीं मुद्दों को लेकर आज सैकड़ों आदिवासी स्त्री-पुरुषों ने अपनी परंपरागत वेशभूषा में पलिया नगर की मुख्य संपूर्णानगर रोड पर  जबर्दस्त नारेबाजी करते हुए जुलूस निकाला और तहसील पहुंचकर उपजिलाधिकारी रेनू सिंह को ज्ञापन सौंपा।

दिए गए ज्ञापन पर विभिन्न ग्रामवासी सहबनिया राना, निबादा, अनीता, प्रताप सिंह, रानी, प्रभावती ,साधना देवी, तारा देवी, फूलमती, रतनलाल, प्यारेलाल, रामचंद्र, दयाराम आदि के हस्ताक्षर हैं। ज्ञापन देने से पूर्व थारू आदिवासी महिलाओं-पुरुषों को अखिल भारतीय वन जन श्रमजीवी यूनियन के वरिष्ठ सदस्य रजनीश ने संबोधित भी किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.