वहशी भी हो जाएगा शर्मसार: दंपत्ति द्वारा केरल में दो महिलाओं के हत्याकांड को बलि देने के लिए दिया अंजाम, पुलिस को शुबहा कि दंपत्ति ने खाया था हत्या के बाद दोनों का मांस

तारिक खान

डेस्क: केरल में दो महिलाओं की हत्या के मामले में पुलिस ने एक सनसनीखेज़ खुलासा किया है। पुलिस का कहना है कि दोनों महिलाओं की हत्या बलि देने के उद्देश्य से किया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कोच्ची के पुलिस कमिश्नर नागराजू चकिलग बताया है कि आरोपी तीन लोग पकडे गए है। जिसमे बलि देने के बाद दोनों महिलाओं के मांस खाने की बात सामने आ रही है। गिरफ्तार आरोपियों में मसाज़ थिरेपिस्ट भगवंत सिंह, उनकी पत्नी लाली और उनके लिए एजेंट का काम करने वाला शख्स मोहम्मद शफ़ी है। पुलिस तीनो से गहन पूछताछ कर रही है।

पुलिस सूत्रों से मिल रही जानकारी के आधार पर बताया जा रहा है कि पुलिस को पूछताछ में जानकारी हासिल हुई है कि भगवंत सिंह और लाली ने तंत्र-मंत्र से पैसा-शोहरत हासिल करने के लिए नरबलि दी थी। इस कम में उनका सहयोग उनके एजेंट शफ़ी ने किया था और शफी ही उन दोनों महिलाओं को लालच देकर आरोपी के घर लाया था। जहां उनकी बलि देकर दंपत्ति भगवंत सिंह और लाली ने शव को दफ़ना दिया। इस घटना के बाद पुलिस पिछले कुछ दिनों में लापता लोगों के मामले की भी जांच में जुटी है। पुलिस को शक है कि कही ऐसा न हो कि कुछ और भी नरबली दी गई हो

कोच्चि के पुलिस कमिश्‍नर नागराजू चकिलग ने पत्रकारों से बातचीत में बताया है कि पुलिस पास इसे मामले में पर्याप्‍त सबूत नहीं है। फोरेंसिक परीक्षण और साक्ष्‍य एकत्रित करने का काम अभी भी जारी है। आरोपी को पागल और मनोरोगी करार देते हुए उन्‍होंने कहा कि अभी तक के पूछताछ में जो तथ्य सामने आये है उनके आधार पर अपराध का मूल उद्देश्‍य यौन सुख प्रतीत होता है। मृतक महिलाओं रोसेलिन और पदमा को बांधा गया और बेरहमी से मार डाला गया। उनके शरीर को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटा गया और इसके हिस्‍से को दफन कर दिया गया। पुलिस ने कहा कि आर्थिक परेशानियों को खत्‍म करने के लिए यह मानव बलि दी गई। पुलिस ने बताया कि रोसलिन जून और पदमा सितंबर माह में लापता हुई थी।

पुलिस सूत्रों के हवाले से आ रही मीडिया रिपोर्ट्स को आधार माने तो पूछताछ में पुलिस मसाज थेरेपिस्ट भगवंत सिंह और उसकी पत्‍नी ने बताया है कि उन्‍होंने मृतकों का मांस भी खाया था। पुलिस ने मामले की जांच के लिए विशेष टीम का गठन किया है। दंपती और उनके एजेंट को 26 अक्‍टूबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

गौरतलब हो कि पुलिस पदमा के लापता होने की जांच कर रही थी तभी उसे इन हत्‍याओं के बारे में पता चला। मृतक महिलाओं के फोन एजेंट मोहम्‍मद शफी के पास पाए गए, जिसने पूछताछ में अपहरण करने की बात स्‍वीकार किया। पुलिस कमिश्‍नर ने कहा कि लापता महिलाओं के संबंध में हमारी जांच के दौरान पता चला कि तिरुवल्‍ला में दंपति के घर में उनकी हत्‍या कर दी गई और शरीर को टुकड़ों में काटकर दफन कर दिया गया है। यह वित्तीय लाभ के लिए मानव बलि का मामला था। आरोपियों को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया। बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता प्रकाश जावड़ेकर ने दोनों महिलाओं की बलि की घटना की निंदा करते हुए केरल की माकपा नीत सरकार पर निशाना साधा है। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.