जुलाई से दौड़ेगा अखिलेश यादव का सपना लखनऊ मेट्रो, किराया होगा दस रुपयों से कम

समीर मिश्रा / मनीष गुप्ता 
लखनऊ,22 जून 

लखनऊ वाले जुलाई माह से 8.9 किमी तक मेट्रो ट्रेन का सफर कर सकेंगे। 15 जुलाई तक केंद्र की ओर से सिक्योरिटी सर्टिफिकेट मिल जाएगा। इसके बाद जुलाई की तीसरे हफ्ते तक राज्य सरकार इसके लोकार्पण की तारीख निश्चित करेगी। इस संबंध में मेट्रो के प्रिंसिपल एडवाइजर ई श्रीधरन ने गुरुवार शाम को पत्रकारवार्ता में जानकारी दी। 

इससे पहले वे सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिले। जहां मुख्यमंत्री ने भी लखनऊ मेट्रो की कार्यप्रगति की प्रशंसा की। मेट्रोमैन ई श्रीधरन कहा कि वो लखनऊ मेट्रो की ओर से किए जा रहे कार्यों पर लगातार नजर बनाये हैं। वे कार्य की प्रगति से संतुष्ट हैं। उन्होंने बताया कि यह देश की पहली ऐसी मेट्रो होगी जिसका प्रथम फेज का कमर्शियल रन सबसे जल्दी शुरू होगा। देश में सबसे पहले शुरू होने के साथ ही यह विश्व भर में भी सबसे तेज मेट्रो संचालन में से एक है। इससे पहले देश में सबसे तेज मेट्रो संचालन कोच्चि में हुआ था। वहां चार साल में रन हुआ था जबकि लखनऊ मेट्रो ने इस फेज का कार्य दो साल नौ महीने में ही पूरा कर लिया है। अब कुछ ही दिनों में इसका कमर्शियल हो सकेगा। यह अपने आप में रिकॉर्ड है। 
आठ से 10 के बीच होगा किराया
पत्रकारों से बातचीत के दौरान मेट्रोमैन ने कहा कि खास बात यह है कि लखनऊ मेट्रो का किराया कोच्चि मेट्रो से कम और दिल्ली मेट्रो के आसपास होगा। कोच्चि मेट्रो में न्यूनतम दर मौजूदा समय में 10 रुपये है जबकि दिल्ली मेट्रो की शुरुआत में ये 8 रुपये था। स्मार्ट कार्ड से किराया मौजूदा समय में 7.20 रुपये है और टोकन से 10 रुपये। बताया जा रहा है कि लखनऊ मेट्रो का किराया भी 8 से 10 रुपये के बीच होगा। हालांकि प्रस्तावित किराए पर मेट्रो बोर्ड की मुहर लग चुकी है। इसे फिलहाल सुरक्षित रखा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.