तीन मासूम बच्चो की बलि देने की कोशिश से थर्राया जिलाम, आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

फारूख हुसैन

लखीमपुर खीरी //लखीमपुर खीरी जिले के थाना पलिया क्षेत्र  में एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई  है जिसमें दो युवकों  ने धन पाने के लालच में तीन मासूमो की बलि देने की कोशिश की परंतु मासूम किसी तरह अपने आपको छुड़ाकर वहाँ से भाग निकले। जिसके बाद बच्चो के परिजनों ने पूरा मामला पलिया कोतवाली पुलिस को बताया है।

मामला जिले के कोतवाली पलिया क्षेत्र के मोहल्ला रंगरेजान का है जहाँ पर मोहल्ले के ही निवासी युवकों ने अमर वाल्मीकि और रजत वाल्मीकि ने रोहित वाल्मीकि (17)  पुत्र रमेश वाल्मीकि,दुशाल कुमार (13) पुत्र राजाराम और  मोहित कुमार (17) पुत्र कमलेश को कुछ कार्य करवाने के बहाने बीती रात लगभग नौ बजे पलिया के चर्चित एडमाटेन पब्लिक स्कूल के सामने की छत्ता चमार वाली बाग में ले गये जहाँ उन्होंने उनके हाथ पैरों को बाँधकर लिटा दिया और तीनों बच्चो को वहाँ पर गड़ी हुई धन से भरी डेग के बारे में बताया और उन्होंने  बच्चों को यह भी बता दिया कि हम तुम्हारी बलि देंगे जिससे गड़ा हुआ धन हमको मिल जायेगा और फिर उस धन में से भी आधा घन तुमको देंगे  जिससे तुम अपनी जरूरत पूरी कर सकोगे ।परंतु  बच्चो ने साफ मना कर दिया तो वह बच्चो को धमकाने लगे कि तुम्हारे  घर वालों को हम मार देंगे  और फिर वह उनकी बलि देंने के लिए गड़शा को लेने के लिए गन्ने के खेत के अंदर चले गये और उनके जाते ही वह किसी तरह खुद को छुड़ाकर भाग निकले और अपने घर वापस आ गये वापस आकर उन्होंने पूरे घटना क्रम को अपने माता पिता को बताया जिसे सुनकर वह थर्रा गये और उन्होंने पलिया कोतवाली में इसकी सूचना दी जिससे मौके पर पहुँचकर पुलिस  मामले की जांच करने में जुट गयी है और पुलिस ने आरोपियों को अपनी गिरफ्त में ले लिया है ।
साथ ही क्षेत्रवासियों के द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार एक बात और सामने आई है कि इस तरह का मामला कुछ दिनों  पहले भी प्रकाश में आया था और इस बात की जानकारी पहले क्षेत्रीय  पुलिस को दे दी गयी थी परंतु क्षेत्रीय  पुलिस ने इस संबंध में कोई कार्यवाही करना उचित नही समझा अब सवाल यह भी उठता है कि यदि यह हादसा हो जाता तो क्या वह मासूम बच्चे उन दंरिदो का शिकार नही  हो जाते और फिर इस घेरे में पुलिस भी आ जाती जो एक शर्मनाक बात होती ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.