उफ़ ये कलयुग – कमरे के लिये नाती ने घोट दिया नानी का गला, खुद के बेटो ने छुपा दिया माँ का क़त्ल

मो आफताब फ़ारूक़ी
इलाहाबाद। वृद्ध महिला की आये दिन हरकतों से आजिज आकर उसके दो बेटों और नाती ने पहले हत्या किया और वारदात को छिपाने के लिए शव को जलाकर फेंक दिया था। उक्त हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए औद्योगिक थाने की पुलिस ने शुक्रवार की सुबह तीन लोगो को गिरफ्तार किया। 

उक्त मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक यमुनापार दीपेन्द्र नाथ चैधरी ने शुक्रवार दोपहर बाद बताया कि पकड़े गये आरोपियों में मृतका शान्ती देवी 65वर्ष पत्नी स्वर्गीय श्रीराम निवासी सड़वाकला थाना औद्योगिक  के दो बेटे खिन्नीलाल व मुनीम और उसका नाती शुभम पुत्र खिन्नीलाल है। पूंछताछ में आरोपियों ने बताया कि शान्ती देवी जिस कमरे में रहती थी, उसी में शुभम भी रहता था। वह उसके सोने में अवरोध करती थी, आये दिन कोई न कोई ऊट पटांग हरकत करती थी। जिससे परेशान होकर शुभम ने 4 जुलाई 2017 की रात अपनी दादी से झगड़ा करने लगा और उसकी गला घोटकर हत्या कर दी। उसके बाद अपने पिता खिन्नीलाल को बुलाया और शव ठिकाने लगाने के लिए चाचा मुनीम का भी साथ में ले लिया। तीनों ने पहले उसे घर में जलाने का प्रयास किया, उसके बाद शव लेजाकर गांव के बाहर प्राइमरी स्कूल के पास रख दिया और वहां भी उसके शव का जलाने के लिए आग लगाया। लेकिन वह जला नहीं सके। 5 जुलाई की सुबह उसका शव जब पाया गया तो उसकी पहचान नहीं हो सकी। हत्या का अंजाम देने के बाद तीनों चुपचाप मजदूरी करने के लिए चले गये। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को लावारिश में पंचनामा करके चीरघर भेज दिया। 
11 जुलाई को उसके शव का चिकित्सकों ने अन्त्य परीक्षण किया। जिसमें यह राज खुला कि मृतका उम्र लगभग 65वर्ष रही होगी और उसकी पहले गलाघोट कर हत्या की गई और उसके बाद जलाने का प्रयास किया गया। पुलिस ने पोस्टमार्टम रिर्पोट आने के बाद अज्ञात में मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दिया। 
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आनन्द कुलकर्णी के निर्देश पर एसएचओ रमेश सिंह रावत, एसआई विनोद कुमार सिंह एवं एसआई यूटी अर्चना चैबे, सिपाही  शेख अहमद, महिला सिपाही नैन्सी यादव, संजय सिंह, सागर सिंह, वाहन चालक गोपाल शंकर राय ने मामले में जांच शुरू कर दिया। पुलिस को पता चला कि सड़वा गांव के एक वृद्धा कई दिनों से गायब है। पूंछताछ करते हुए पुलिस उसके घर तक पहुंच गयी। पुलिस ने उसकी बेटी से सम्पर्क किया तो उसने शुक्रवार की सुबह फोटो देखकर पहचान किया। जिसके बाद पुलिस ने मां की हत्या करने में शामिल दोनों बेटो और उसके नाती को गिरफ्तार किया। हत्या करने एवं साक्ष्य मिटाने का मामला दर्ज करके तीनों को जेल भेज दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.