ग्राहक सेवा केन्द्र स्वामी पर खाते से रुपये निकालने का आरोप

इमरान सागर 
शाहजहाँपुर,तिलहर :- बैंको उपभोगताओं की सहायता में लगे ग्राहक सेवा केन्द्र के नाम पर जन सेवा केन्द्र ग्राहक के खाते में फर्जी आधार लिंक करा कर उनके खातो से मोटी रकम उडा हैं!  तीस जून को नगर स्थित क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक शाखा डभौरा से विनोद जनसेवा केन्द्र को फर्जी प्रकार से खाते में आधार लिंक करा कर पैसा निकाल लेने का आरोपी बनाया गया! मिली जानकारी के अनुसार ग्राम समधाना निवासी लेखराज पुत्र रामचरन ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि उसकी पुत्री रानी के साथ उसका ज्वाईंट खाता क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की डभौका शाखा में उसका खाता है!

9 फरवरी 2017 में उसके बैंक खाता में 40862/ चालिस हजार आठ सौ वासठ रुपये थे! 27 जून 2017 को उसने बैंक द्वारा अपने खाते से 25000/ हजार रुपये की रकम निकाली तो उसी दिन कुछ समय बाद उसके खाते से पांच हजार रुपये निकाल लिए गये! खाताधारक लेखराज द्वारा बैंक मैनेजर से शिकायत करने पर मालुम हुआ कि विनोद जन सेवा केन्द्र से (ग्राहक सेवा केन्द्र) से यही पांच हजार रुपये नही बल्कि नौ फरवरी और अब तक के बीच पांच पांच हजार करके दो बार और भी निकासी की गई, जबकि बैंक ग्राहक लेखराज ने कभी भी जनसेवा केन्द्र से अपना पैसा नही निकाला. लेखराज द्वारा जनसेवा केन्द्र स्वामी विनोद से जब इस बाबत पूछतांछ की गई तो उसने सारे पैसे दो रोज में वापस करने की बात की परन्तु एक सप्ताह बाद जनसेवा केन्द्र स्वामी विनोद बैंक ग्राहक लेखराज को धमकी भरे अभद्र शब्दो में बोलने लगा कि कोई पैसा वापस नही करूगा जो करना हो कर ले मेरी ऊपर तक पहुंच है. बैंक ग्राहक लेखराज ने पूरी तौर पर पता लगाया तो मालुम हुआ कि बैंक की मिलीभगत से उसके खाते में किसी अन्य का आधार लिंक किया गया है और वहीं अपना अगूठा लगा कर जनसेवा केन्द्र से मिल कर खाते से पैसे निकाल रहा है.

गौरतलब हो कि भारत सरकार ने जिस सिक्योरिटी के चलते आधार को मान्य किया है तो उसी सिक्योरिटी में बैंक की मिलीभगत के चलते जनसेवा केन्द्र(ग्राहक सेवा केन्द्र) सेंध लगा कर खातो से पैसा निकाल कर गुलछर्रे उड़ा रहै है और जिनके खातो से पैसा निकाल रहा उनकी शिकायत पर बैंक अधिकारियों का बेतुका जबाब उन्हे ठगा सा कर रहा है!                        ⁠⁠⁠⁠

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *