फिर हुई कादीपुर पुलिस लेट, फिर किया ग्रामीणों ने हंगामा

हरिशंकर सोनी.

सुलतानपुर कादीपुर – पुलिस समय से नहीं पहुचती यह तो आम बात है, मगर जब पुलिस की इस लेट लतीफी के कारण आम नागरिको और राहगीरों को परेशानी उठानी पड़ती है तब मामला गंभीर हो गया. ऐसी ही एक घटना आज कादीपुर में हुई जहा एक मवेशी के करेंट के चपेट में आ जाने से मौत हो गई. घटना कटघरा नारायण पारा गाँव में हुई. हुआ इस तरह की विद्युत विभाग की लापरवाही के कारण क्षेत्र के निवासी संतराम हरिजन की भैस डिग्री कॉलेज के पास चर रही थी, तभी चरते चरते पास से ही काफी नीचे से गुज़रे बिजली के तार के चपेट में आ गई और उसकी मौत हो गई.
घटना की सुचना कादीपुर कोतवाली को दिया गया.मगर कोतवाली पुलिस ने मौके पर पहुचना शायद ज़रूरी ही नहीं समझा. आखिर आक्रोशित ग्रामीणों ने बलिया-लखनऊ राजमार्ग पर पर जाम लगा दिया, घटना की सुचना क्षेत्राधिकारी को मिलने के उपरांत क्षेत्राधिकारी के मौके पर पहुचने की सुचना पर आनन् फानन में कोतवाल साहेब अपने दल बल के साथ पहुच गये. मगर ग्रामीण अपने आक्रोश में थे. उनकी मांग थी कि मवेशी के मौत का मुआवजा देने के साथ सम्बंधित दोषी अधिकारियो के खिलाफ कार्यवाही की मांग कर रहे थे. काफी मशक्कत के बात किसी तरह ग्रामीणों को समझा कर जाम हटवाया.
अब ये नहीं समझ आता कि इस लेट लतीफी को कादीपुर पुलिस कब छोड़ेगी. अगर पिछली घटनाओ पर प्रकाश डाला जाय तो इसके पुर्व भी इसी लेट लतीफी के कारण पुलिस को काफी मेहनत करनी पड़ी थी, पिछली घटना में किसान नेता जुग्गी लाल की मौत के वक्त भी काफी देर तक पुलिस मौके पर नहीं पहुची थी जिससे आक्रोशित होकर ग्रामीणों ने उग्र होकर सड़क पर ही तांडव करना शुरू कर दिया था, काफी गाडियों को तोड़फोड़ का शिकार होना पड़ा, जिसमे पुलिस के वाहन और एक रोडवेज़ बस को भी उग्र भीड़ ने अपने आक्रोश का शिकार बना लिया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *