पहली बारिश होते ही रेडवेज बस अड्डा बना तालाब

इमरान सागर 

शाहजहाँपुर:-जनपद नगर एंव तहसील क्षेत्र के तमाम रोडवेज बस अड्डा, मौसम की पहली बारिश में ही तालाबो की तरह नज़र आने लगे! रोडवेज बस अड्डो की दयनीय हालत के संबध में अनेको बार लिखित एंव मौखिक मांग की जाती रही परन्तु प्रदेश का सड़क एंव परिवहन विभाग सहित प्रशासन अपनी आँखे बन्द किए रहा जबकि विभिन्न बस अड्डो से अपने गंतव्य स्थान को जाने बाली सबारियों से रोडवेज विभाग लाखो रुपये की प्रतिदिन कमाई करता है! इससे समस्या से ग्रस्त सबारियों में अफरा तफरी का माहौल होता और लिभिन्न प्रकारो से उनका बड़ा नुकसान भी!

जनपद नगर सदर तहसील,तिलहर और मीरानपुर कटरा स्थित प्रदेश के परिवहन विभाग के रोडवेज के बस अड्डा दशको पुराने स्थापित हैं! जहाँ मीरानपुक कटरा का बस अड्डा कम तालाब (बारिश के समय मे) एक पुरानी सी जर्रजर इमारत के साथ आज तक विभाग की लापरवाही का शिकार है तो वहीं तिलहर नगर के अस्पताल रोड़ पर स्थापित रोडवेज बस अड्डा अपनी पुरानी जमीन पर दुबारा से स्थापित होने के बाद अपने विकास के इन्तजार में बरसात में तालाब सा बन कर अब तक तिलहर के सौन्द्रीकरण का मुंह चिड़ा रहा है! जहाँ तक जनपद नगर बस अड्डा की बात करे तो विभाग ने मरम्मत और विकास के नाम पर सरकार के करोड़ो रुपये हड़प कर लिए दिखाई पड़ रहे हैं जहाँ नाले का पानी भी उसे तालाब बनाने पर ही मजबूर नही करता बल्कि मुख्य सड़क को पूरी तरह जाम भी कर देता हैं! हाईवे 24 को जोड़ने बाले जनपद के मुख्यत तीन रोडवेज बस अड्डो का विकास अब तक नही होना प्रशासन की घोर लापरवाही तो दर्शाता ही है साथ ही विभाग द्वारा प्रदेश सरकार को चूना लगाता भी नज़र आता है! लाखो रूपये प्रतिदिन कमाई करने वाले परिवहन विभाग के उक्त बस अड्डो के बने तालाबो पर आने बाली सबारियों मे अफरा तफरी का माहौल बना रहता है और सबारियों की विभिन्न समस्याओं का नाजायज फायदा उठाईगीरे जं कर उठाते हैं जिससे सबारियों का दोनो ओर से नुकसान ही हो रहा है!
सूत्र बताते है कि जहाँ दशको के स्थापित बस अड्डो का प्रदेश की विभिन्न बदलती विभिन्न सरकारे भी विकास को लेकर गंभीर नही हो सकी तो वर्तमान प्रदेश सरकार से क्या उम्मीद की जा सकती है क्यूंकि तीन माह गुजरने के बाद भी प्रदेश के शासन का प्रशासन स्थाई रुप से अब तक काम करता नज़र नही आ रहा है!                        

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.