फर्जी आंगनबाड़ी केंद्र का हुआ खुलासा

(प्रभारी सीडीपीओ कुसुम और कार्यकत्री प्रीती के खिलाफ केस दर्ज-पांच सालो से नौनिहालो का लाखो का पुष्टाहार रही थी डकार)

इमरान सागर 

शाहजहाँपुर:-जिले मे गर्भवती मां और कुपोषित बच्चो के बांटी जाने वाली पुष्टाहार सामग्री भ्रष्टाचार के भेट चढ रही है। कालाबाजारी होने से गर्भवती मांये कुपोषित हो रही है वही नौनिहाल कुपोषण से बीमार हो रहे है। जी हां शाहजहांपुर मे इस बात का खुलासा हुआ है जहां पांच साल से संचालित फर्जी आंगनबाड़ी केंद्र का हुआ खुलासा हुआ है।

चौकाने बाली बात है कि कागजो पर आगनबाडी के केन्द्र के नाम पर प्रभारी सीडीपीओ कुसुम सरन और कार्यकत्री प्रीती आर्या लाखो का पुष्टाहार को खुद डकार रहे थे।  फर्जी आगनबाडी और पुष्लाटाहार की जांच रिपोर्ट आने पर डीएम के निर्देश पर दोनो के खिलाफ विभिन्न धाराओ मे केस दर्ज कर निलम्बन की कार्यावही शुरू की गई है। तिलहर व्लॉक क्षेत्र में पांच साल से फर्जी ढंग से संचालित आंगनबाड़ी केंद्र का खुलासा उस समय जब एक वकील अभिषेक शर्मा ने तहसील दिवस में सीडीपीओ की शिकायत डीएम से की। डीएम के निर्देश पर जांच हुई तो  बडा खुलासा सामने आया। सीडीपी कार्यकर्त्री ने कागजो मे हेराफेरी कर खजुरिया नाम से फर्जी ढंग से आंगनबाड़ी केंद्र संचालित करा लिया। यही नही पांच सालो से इस आंगनबाड़ी से लाखो का पुष्टाहार हड़पा जाने लगा जिसकी किसी को कानो कान खबर नही लगी। डीएम के निर्देश पर एसडीएम ने केंद्र को फर्जी ढंग से संचालित करने और पुष्टाहार हड़पने के मामले मे प्रभारी सीडीपीओ कुसुम सरन और कार्यकत्री प्रीती आर्या को दोषी करार देते दोनों के खिलाफ विभिन्न धाराओ मे रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। वही डीएम को निलम्बन की संस्तुति भेजी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.