डीजीपी से मिले विधायक, तब हटा बलिया का चर्चित दराेगा

अंजनी राय

बलिया। दोकटी थाने पर तैनात दरोगा वीरेन्द्र यादव को एसपी कार्यालय से अटैच कर दिया गया है। हालांकि दराेगा की सम्बद्घता से विधायक सुरेन्द्र सिंह संतुष्ट नहीं है।  बता दें कि दरोगा वीरेन्द्र यादव पर न सिर्फ जबरिया वसूली का आरोप लगाते हुए बैरिया विधायक सुरेन्द्र सिंह ने दोकटी थाने पर धरना शुरू किये तो सत्ता तक हलचल मची, तब डिप्टी सीएम केशव मौर्य व डीजीपी के हस्तक्षेप पर विधायक का धरना समाप्त हुआ था। एसपी सुजाता सिंह ने प्रकरण की जांच एएसपी को सौंपा।

लेकिन दराेगा पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं होता देख विधायक सुरेन्द्र सिंह पुनः शुक्रवार को डीजीपी से मिले, नतीजतन शनिवार को दरोगा वीरेन्द्र यादव को एसपी कार्यालय से सम्बद्घ कर दिया गया।वही, भाजपा कार्यकर्ताओं ने कहा है कि एसआई वीरेन्द्र यादव को केवल एसपी कर्यालय से अटैच करने मात्र से क्षेत्रीय लोगो के साथ न्याय नही होगा। एसआई वीरेन्द्र यादव प्रति दिन 60 से 70 बालू लदे ट्रकों से वसूली करते रहे है। हरेन्द्र यादव का ट्रैक्टर बिना वजह बन्द करना, लक्ष्मण छपरा गांव के जयनाथ सिंह पर अवैध तरीके से एफआईआर दर्ज करना, ओमप्रकाश गोड़ से एफआईआर के नाम पर आठ हजार रुपये की मांग करना, नही देने पर भगा देना, सुकरौली में गलत तरीके से सपा के इशारे पर निर्दोश प्रधान को गलत तरीके से एफआईआर करके जेल भेजने जैसे कार्य करने वाले एसआई का निलम्बन से कम हमें कुछ भी मंजूर नहीं है। विधायक सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि डीजीपी से शिकायत करने पर दरोगा को हटाया गया है। जांच चल रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.