पूर्वागिनी अकादमी द्वारा आयोजित की जा रही है बनारसी ठुमरी के प्रशिक्षण हेतु कार्यशाला

करिश्मा अग्रवाल
बनारसी ठुमरी के प्रशिक्षण हेतु पूर्वागिनी अकादमी द्वारा 24 जून से 26 जून 2017 तक कार्यशाला का आयोजन स्नेह नगर,उज्जैन में किया जा रहा है। कार्यशाला के प्रथम दिवस के प्रातः सत्र राग खमाज  में बंधी ठुमरी तीनताल में निबद्ध — मुर्काई मोरी बैया री और संगीत की विभिन्न शैलियों ध्रुपद , ख्याल, ठुमरी आदि पर प्रकाश डाला गया साथ ही अलग अलग शैलियों में स्वर का उच्चारण ,कहन आदि की बारीकियों को भी समझाया गया।कार्यशाला के सायं कालीन सत्र में राग खमाज में ही आधा ताल में ठुमरी सिखाई गई जिसके बोल थे- सांवरो छैला रंग डारि गयो गुइयां

इस कार्यशाला में प्रशिक्षण बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के सुविख्यात गायक डॉ रामशंकर द्वारा दिया जा रहा है। इस कार्यशाला के प्रथम दिवस के सफल आयोजन पर सुविख्यात गायक pt सुधाकर देवले जी एवम निलाम्भ नलवड़े जी ने आभार व्यक्त किया ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.