मोदी जी काशी की जनता को स्पष्ट करें कि फुलवरीया मार्ग चौडीकरण फोर लेन होगा या टू लेन – शैलेन्द्र सिंह

(जावेद अंसारी)

वाराणसी. कांग्रेस के जुझारू नेता शैलेंद्र सिंह ने आज एक बार फिर फुलवरिया मार्ग चौडीकरण के सम्बन्ध में सवाल उठाते हुवे वाराणसी के सांसद नरेद्र मोदी को घेरने का प्रयास किया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर वाराणसी छावनी बोर्ड सदन द्वारा फुलवारिया के छावनी बाइपास के लिए छावनी परिषद  सेन्ट्रल कमान के अधिकारियों द्वारा टू लेन हेतु सड़क बनाने के प्रस्तुत प्रस्ताव को निरस्त किये जाने की जानकारी देते हुए उनसे सरकारी घोषणानुरूप फोरलेन सड़क बनाने के लिए प्रभावी हस्तक्षेप की मांग की है।

ज्ञातव्य हो कि सरकारी घोषनाओ के अनुरूप वाराणसी के छावनी स्थित फुलवरिया मार्ग के चौडीकरण हेतु फोर लेन सड़क का वायदा किया गया था. मगर छावनी परिषद सेन्ट्रल बोर्ड के अधिकारियो द्वारा टू लेन रोड हेतु प्रस्ताव पारित किया गया है. इस प्रस्ताव का कांगेस द्वारा लगातार विरोध किया गया था.
इसी कड़ी में आज कांग्रेस नेता शैलेन्द्र सिंह पार्षद व पूर्व उपाध्यक्ष छावनी परिषद ने अाज वाराणसी जिला एवं शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा व सीताराम केसरी और दर्जनों कांग्रेस जनों के साथ प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय पहुँच कर उक्त पत्र सॊंपा। पत्रक प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय में मौजूद सांसद प्रतिनिधि के रुप में मौजूद विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने प्राप्त किया।
इस पत्र के द्वारा कांगेस नेताओ ने मांग किया है कि वाराणसी के सांसद काशी की जनता को स्पष्ट करें कि फुलवरीया चौडीकरण फोर लेन होगा की टूलेन,क्योंकि केन्द्र सरकार के मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री महेन्द्रनाथ पाण्डेय ने मार्ग का शिलान्यास फोर लेन के लिए किया था लेकिन छावनी परिषद सेन्ट्रल कमान टू लेन सड़क बनाने की बात कर रहा है जिससे नाराज़ छावनी परिषद के सभी  निर्वाचित सदस्यों सहित छावनी बोर्ड ने टू लेन के प्रस्ताव को निरस्त कर दिया। 
पत्र में कांगेस जनों ने सवाल उठाते हुवे कहा है कि प्रधानमंत्री जी, आप वाराणसी के माननीय सांसद एवं भारत के माननीय प्रधानमंत्री हैं। सांसद के नाते काशी के विकास की समस्याओं व उनकी बाधा का समाधान जहां आपका दायित्व है। वहीं प्रधानमंत्री के रूप में केंद्र सरकार के सभी विभागों पर नियंत्रणकारी अधिकार आपके पास हैं। हम आपसे आरंभ से कैंटूनमेंट क्षेत्र के करियप्पा मार्ग को पुन: खोलने की मांग करते रहे हैं और उसमें सेना की ओर से सुरक्षा कारणों से सहमति नहीं होने पर आपकी ही सरकार ने वाराणसी के व्यापक जनहित में वैकल्पिक फोर लेन फुलवरिया मार्ग निर्माण की घोषणा की जिसका हम सबने स्वागत किया। उस समय कहा गया था कि इस फोरलेन मार्ग हेतु सेना अपने छावनी क्षेत्र से अपेक्षित भूमी देगी। आपकी सरकार के मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री ने फोरलेन मार्ग का चुनाव पुर्व शिलान्यास भी कर दिया, लेकिन चुनाव बीतने पर जब इस प्रतिक्षित काम की बात आई तो कहा गया कि सड़क फोरलेन नहीं, टू लेन ही बनेगी ऐसा प्रस्ताव आया।राज्य सरकार का इस सम्बन्ध में कहना है कि सेना वांछित भूमि नहीं दे रही है और सेना के अधिकारी कहते हैं कि टू लेन सड़क की ही जमीन की बात थी। 
कांगेस जनों ने पत्र में आगे कहा है कि उक्त स्थिति में  यह समझ में ही नहीं आ रहा है कि सेना का प्रशासन गलत बता रहा है या राज्य प्रशासन की बात और मानव संसाधन विकास मंत्री का शिलान्यास भ्रामक है। इस बीच छावनी बोर्ड में सेना के अधिकारियों ने टू लेन हेतु जमीन देने का प्रस्ताव रखा, जिसे हम सभी छावनी बोर्ड पार्षदों ने निरस्त कर फोर लेन की शासकीय घोषणा के अनुरूप जमीन देने का प्रस्ताव लाने पर जोर दिया है।वजह साफ है कि जनप्रतिनिधि होने के कारण हम पार्षदगण वाराणसी की बहुत बड़ी आबादी से जुड़े व्यापक जनहित की प्रतिबद्धता से जुड़े हुए हैं।
कांगेस जनों ने इस पत्र के द्वारा उक्त संदर्भ में प्रभावी हस्तक्षेप का का निवेदन किया है और कहा हैं कि आपकी सरकार के अधीन रक्षा विभाग भी है। आप इस संदर्भ में उन्हें निर्देश की कृपा करें कि जब करियप्पा मार्ग खोलने पर सहमति नहीं होने से विभाग वैकल्पिक मार्ग हेतु जमीन देने पर तैयार हुआ तो वह सरकार की घोषणा और शिलान्यास के अनुरूप फोरलेन हेतु आवश्यक जमीन प्रदान करें। वाराणसी में मुख्य नगर क्षेत्र से कचहरी, एयरपोर्ट की ओर जाने के लिये रेलवे लाइन की स्थिति के कारण सीमित विकल्प हैं और ऐसे हालात में फुलवरिया फोर लेन का निर्माण नगर की बहुत गंभीर समस्या का किसी हद तक समाधान है। इस परिपेक्ष्य में विधायक ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया की अाप लोगों की मांग पर गम्भीरता पूर्वक विचार किया जायेगा।
प्रतिनिधिमंडल मे मुख्य रुप से जिला एवं शहर अध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा व सीताराम केसरी, शैलेन्द्र सिंह, दुर्गा प्रसाद गुप्ता, प्रमोद श्रीवास्तव, डा०जितेन्द्र सेठ, देवेन्द्र सिंह, राकेशचन्द, सुनिल श्रीवास्तव, राजेन्द्र मिश्रा, अफ़सर खान, राज सिंह, फसाहत हुसैन बाबू, नागेन्द्र पाठक, वी सी राय, मंगलेश सिंह, चंचल शर्मा, ओम शुक्ला, धीरज शुक्ला, अभिषेक चॊरसिया, राजकुमार, विवेक चन्द राम, साजिद खान, राम सुधार मिश्रा, अनिल श्रीवास्तव, विष्णु मिश्रा, मनीष सिंह, धीरज सोनकर आदि कांगेस जन उपस्थित थे।
 “

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.