जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव की अधिसूचना जारी , सजने लगा सियासी अखाडा

रॉबिन कपूर
फर्रुखाबाद। जिले में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव की अधिसूचना जारी ही जिले के दिग्गज नेताओ ने सियासी अखाडे में अपनी अपनी ताल थोकनी शुरू कर दी हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष सगुना देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आने के बाद से जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी खाली हो गयी थी । जिसके चलते राज्य निर्वाचन आयोग ने अधिसूचना जारी कर दी है। राज्य निर्वाचन आयुक्त एसके अग्रवाल ने अधिसूचना के जारी आदेश में कहा है कि 17 जुलाई को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिये नामांकन प्रक्रिया होगी। यह दोपहर बाद 3 बजे तक चलेगी। इसके बाद उसी दिन नामांकन पत्रों की जाँच तीन बजे से शुरू कर दी जायेगी। वहीं 20 जुलाई को नाम वापसी की प्रक्रिया चलेगी। इसके बाद 23 जुलाई को अध्यक्ष पद के लिये मतदान किया जायेगा। इसके बाद उसी दिन ही मतगणना भी करा दी जायेगी।

अधिसूचना जारी होने की खबर लगते ही जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिये दांव लगाये बैठे नेताओं ने अपनी जोड़ जुगत तेज कर दी है। इस पद पर फर्रुखाबाद सांसद मुकेश राजपूत अपने ड्राइवर कैलाश की पत्नी राजकुमारी को जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने के लिये सियासी अखाडे में अपनी पूरी ताकत झोंकने को तैयार बैठे है । वहीं दूसरी ओर फर्रुखाबाद की सियासत में अपनी विशेष पहचान बना चुके सपा नेता डॉ. सुबोध यादव भी किसी बड़े चहरे को इस मैदान में उतार सकते है । स्वभाविक है कि अगर डॉ. सुबोध इस इस सियासी दंगल दाँव लगाते है तो जिला पंचायत अध्यक्ष पद का यह चुनाव भाजपा और सपा के लिये वर्चस्व का सवाल बन सकता है । पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष शगुना देवी कठेरिया की कुर्सी पलट्ने में डॉ. सुबोध यादव की बड़ी भूमिका रही थी । इसलिये जिला पंचायत के इस बाहुबल के चुनाव में डॉ. सुबोध यादव के खेमे की दावेदारी फिलहाल ज्यादा मजबूत मानी जा रही है । फिलहाल ज्यादातर जिला पंचायत सदस्य सपा नेता डॉ. सुबोध यादव के साथ है। इसलिये जनपद में होने वाले जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव का मुकाबला बेहद रोचक होगा ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.