कानपुर – देखे कैसे एक बेजुबान, मासूम गाय केसा की लापरवाही से तड़प के मर गई ?

मो0 नदीम समीर मिश्रा निजामुद्दीन एव मनीष गुप्ता की रिपोर्ट 
कानपुर 29 जुलाई 2017. वह तो बेजुबान थी. वह अपना दर्द भी नहीं बता सकती थी. मौत के वक्त भूखी भी रही होगी क्योकि कूड़े में पड़े कुछ साग सब्जियों को खा रही थी, वह तड़प रही थी मगर बोल नहीं सकती थी. वह बेबस थी और मौत के मुह में चली गई. वहा देखने वालो की कमी नहीं थी सब उस बेजुबान की मदद करना चाहते थे मगर सब मजबूर थे. सबको अपनी जान की पड़ी थी. उसकी मदद कैसे करते लोग. अब रही सरकारी विभागों की अनदेखी की, अगर बात की जाए तो उसमे सबसे ऊपर अगर किसी का नाम आता है तो वो है केस्को विभाग जिसके लचर रवय्ये और ढीली कार्यशैली की वजह से शहर में आये रोज़ हादसे हुआ करते है कई जाने केस्को विभाग की लापरवाही के चलते जा चुकी है यही नहीं अगर कोई सम्मानित नागरिक अपना फर्ज निभाते हुए होने वाले हादसे की सूचना केस्को विभाग को देता है तो उसके बाद भी केस्को अधिकारी नींद से नहीं जागते है जागते है तब जब हादसा हो जाता है

ताजा मामला है थाना रेल बाजार अंतर्गत हार्डिंग रोड नवाब पार्क के पास हाईटेंशन लाइन के टूट कर गिरने से एक गाय के चपेट में आ जाने से दर्दनाक मौत हो गई और बगल में लकड़ी की टाल में आग लग जाने की वजह से पास ही वाहन रिपेरिंग दुकान में खड़ी एक बाइक जलकर राख हो गई बाकि वाहनों को क्षेत्रीय लोगो ने खीचकर निकाला क्षेत्रीय लोगो के फोन करने पर पहुचे दमकल विभाग ने मौके पर पहुचकर आग को बुझाया मामले की सुचना पर पहुचे रेल बाजार प्रभारी सन्तोष कुमार सिंह ने आक्रोशित हुई भीड़ को समझा बुझाकर शांत कराया
 इस मामले को लेकर लोगो का कहना है कि जब तार टूट कर गिरा इसकी सुचना हैरिस गज केस्को को देने के लिए कई बार सी यु जी न0 पर किया गया लेकिन कोई फोन नहीं उठा रहा था काफी देर के बाद फोन उठा तब जाकर कही बिजली काटी गई अगर वक़्त रहते बिजली बन्द कर दी जाती तो शायद गाय की जान बच सकती थी लोगो का ये भी आरोप है कुछ दिन पहले से हाईटेंशन के जोड़ लगे तार से चिंगारी निकल रही थी जिसके बारे में हैरिस गज केस्को को सुचना दी गई थी लेकिन कोई भी कर्मचारी देखने नहीं आया इससे तो साफ़ पता चलता है केस्को कर्मचारी अपने काम के प्रति लचर रवय्या अपनाए हुए केस्को विभाग की लापरवाही का ये कोई पहला मामला नहीं ऐसे हादसे तो कही ना कही शहर में होते रहते है जिसका खामियाजा लोगो को अपनी जाने देकर भी चुकाना पड़ता है इसके बाद भी अधिकारी अपनी आखे नहीं खोल रहे है और लगातार हो रहे हादसों से कोई सीख नहीं ले रहे है इस बात का अंदाज़ा यही से लगाया जा सकता है इतने बड़े हादसे के बाद हैरिस गज केस्को का कोई भी अधिकारी ना ही घटनास्थल पर पंहुचा और ना ही किसी ने फोन उठाया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.