ग्रामीणो ने सीटी मजिस्ट्रेट को सौंपा ज्ञापन

फर्जी मुकदमा हटाने और गाली गलौज समेत जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करने के आरोपी एसएचओ को हटाने की मांग, 
बलिया। ग्राम सभा फेफना के 22 नामजद एवं 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ फेफना थानाध्यक्ष द्वारा दर्ज कराये गये फर्जी अपराधिक मुकदमे को वापस करने के साथ ही थानाध्यक्ष द्वारा दलित महिलाओं-पुरूषों को जातिसूचक शब्दों का प्रयोग कर भद्दी-भद्दी गालियां दिये जाने को लेकर दर्जनों ग्रामीणों ने शनिवार को जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। तत्पश्चात सिटी मजिस्ट्रेट को पत्रक सौंपा।

ग्रामीणों ने कहा कि 23 जुलाई की शाम को फेफना-गडवार मार्ग पर फेफना दलित बस्ती के सामने इन्द्रजीत राम के 16 वर्षीय पुत्र संदीप राम को तेज गति पिकअप ने जोरदार धक्का मार दिया। इससे संदीप लहूलुहान होकर सड़क पर गिरकर छटपटाने लगा। घटना के बाद सड़क पर महिलाओं-पुरूषों की भीड जुट गई, जिससे यातायात बाधित हो गया। एम्बुलेंस को फोन किया गया, लेकिन काफी देर तक एम्बुलेंस मौके पर नहीं पहुंचा। थानाध्यक्ष अपने हमराहियों के साथ मौके पर पहुंचे तो महिलाओं ने घायल संदीप को अस्पताल पहुंचाने के लिए गाड़ी की व्यवस्था करने को कहा, लेकिन थानाध्यक्ष सड़क पर घायल संदीप सहित महिलाओं को हटने के लिए कहने लगे। आरोप है कि थानाध्यक्ष ने घायल संदीप का पैर पकड़कर घसीटते हुए सड़क किनारे करने लगे। महिलाओं के विरोध करने पर उनको भी थानाध्यक्ष एवं सिपाहियों द्वारा धक्का देने के साथ ही दुर्व्यवहार एवं छेडखानी की गई। लोगों ने घायल को निजी टेम्पो से अस्पताल पहुंचाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.