मानवीय संवेदना के प्रतीक आफताब आलम के जज़्बे को सलाम

सुहैल अख्तर 

घोसी (मऊ)।विगत तीन दिनों से हो रही बारिश के दौरान मंगलवार की सुबह फोटोग्राफी के उद्देश्य से निकले एक समाचार पत्र के फोटोग्राफर आफताब आलम के सामने ही नेशनल हाइवे पर स्थित एचडीएफसी बैंक के पास एक बाइक सवार कुत्ते को बचाने के चक्कर मे गिरकर कर घायल हो व साथ मे बाइक पर बैठी एक महिला भी बुरी तरह घायल हो गई।घटना स्थल पर पहुंच कर घायलों को उठाने के साथ ही आफताब ने एम्बुलेंस के लिए 108 नम्बर डायल कर किया लेकिन एम्बुलेंस वाले ने बताया कि हम दूर हैं आने में समय लगेगा। खून ज्यादा बहता देख आफताब आलम ने तत्काल ई-रिक्शा रुकवाकर घायलो को लादकर मझवारा मोड़ स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए ।

वहां इलाज के दौरान ही उन्होंने परिवार वालो को फ़ोन कर इस दुर्घटना जानकारी दी और डॉक्टर द्वारा लिखी गयी दवाई को स्वयं खरीद कर लाये ।अस्पताल के डॉक्टरों ने भी यह जानने के बाद की एक समाचार पत्र के फोटोग्राफर है अपनी रहमदिली दिखाई और अपने पास से ही दवाई का पैसा देने लगे लेकिन आफताब ने पैसा नही लिया। इस दौरान घायल रामविलास (40 वर्ष) निवासी हमीदपुर, थाना- घोसी एवं उनकी बुआ श् उरई देवी (70 वर्ष)निवासी दरगाह,थाना-मधुबन के परिजन भी अस्पताल पहुँच गए परिजनों ने अस्पताल आते ही आफताब आलम का शुक्रिया अदा कर ढेर सारा आशिर्वाद दिया। आफताब आलम के इस सराहनीय कार्य से प्रसन्न होकर अस्पताल के चिकित्सकों ने भी उनकी  खूब सराहना की। जानकारी होते ही नगर एवं आस पास के पत्रकार, बुद्धजीवी एवं सामाजिक तथा राजनीतिक कार्यकर्ताओ ने आफताब आलम व उनके साथी साहब खान की इस मानवीय कार्य की सराहना करते हुए युवा पीढ़ी को सीख लेने की अपील की  और कहा कि ऐसे लोग मानवता के जीवित उदाहरण हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.