प्रशासन को हाईवे पर चलने बाली डग्गामार बसो से बड़ी दुर्घना का इन्तज़ार तो नही

शिकाते होने के बाद भी ए०आर०टी०ओ० खामोश,नही रिसीव होते हैं सी०यू०जी० नम्बर
इमरान सागर
शाहजहाँपुर:-हाईवे पर बिना परमिट डग्गामार बसो का संचालन खुले तौर पर जिन्दिगी और मौत का खेल हैं क्यूंकि ए०आर०टी०ओ० व परिवहन विभाग की मिलीभगत के चलते पुलिस थानो को इन्ट्री के रूप में मोटी रकम देकर बिना परमिट की प्रयावेट डग्गामार बसे खीरी लखीमपुर से दिल्ली तक लम्बे रूट पर आसानी से हाईवे पर चलाई जा रही हैं! तमाम शिकायतो के बाद भी जहाँ ए०आर०टी०ओ० सी०यू०जी० नम्बर रिसीव नही करते तो वही प्रशासन कुंभकरणी नीद में सोया क्या किसी बड़ी दुर्घटना के इन्तज़ार में है!

जनपद खीरी लखीमपुर से शाहजहाँपुर और तिलहर के हाईवे स्थित विभिन्न स्थानो को बस अड्डा के रूप में प्रयोग कर दिल्ली को जाने बाली बसो के परमिट तक नही है और वे लगातार निर्माणधीन हाईवे 24 पर सबारियों को ढ़ोने में सरपट दौड़ रही है! याद रहे कि हाईवे पर होने बाली विभिन्न दुर्घटनाओं की सूचि में एक और दुर्घटना दर्ज कराते हुए बीते तीन दिन पूर्व तिलहर के बाईपास चौराहे पर खीरी लखीमपुर से दिल्ली को लगभग 40 सबारी ले जारी बस ओबर ब्रिज निर्माण की खाई में पटल गई थी जिसमें दर्जनभर से अधिक सबारियाँ जख्मी हो गई थी! उक्त बस ने लगभग दस मीटर की दूरी पर स्थित एक ढ़ाबे को अपना स्थाई अड्डा बना रखा था! हांलाकि दुर्घटना की सूचना मिलते ही मामले की गंभीरता को समझते हुए मौके पर एस० पी० ग्रामीण तत्काल रूप से पहुंचे थे! 
जानकारी के अनुसार मौके पर पहुंचे एस० पी० ग्रामीण ने बस को खाई में पलटी देख तिलहर कोतवाल को इन डग्गामार बसो के संचानल की जानकारी लेते हुए सख्त लहजे मे हड़का कर डग्गामार प्रायवेस बसो के संचालन पर तत्काल रोक लगाने के निर्देश दिए परन्तु तिलहर पुलिस, तो एैसे जैसे रात गई और बात गई की तर्ज पर पुलिस के आला अधिकारी के निर्देश की धज्जिया उड़ा कर बिना परमिट की डग्गामार प्रायवेट बसो का संचालन लगातार कराए हुए! क्यूंकि प्रदेश में सरकार बदलने के बाद भी जिस प्रकार हाईवे 24 पर चलने बाले हल्के व भारी वाहनो से पुलिस चौकी  द्वारा धन उगाही लगातार जारी है तो वहीं बिना परमिट की डग्गामार प्रायवेट बसो का संचालन भी पूरी तरह जारी है जिससे उक्त डग्गामार प्रायवेस बसे पुलिस चौकी द्वारा स्थानीय पुलिस को मोटी कमाई का जरिया बनी हुई है!
सूत्र बताते हैं कि उक्त डग्गामार बसे जो कि खीरी लखीमपुर से दिल्ली के लिए सबारी सेकर चलती है और उन्हो बस की सभी सीटो को पूरी करने के लिए शाहजहाँपुर, तिलहर और मीरानपुर कटरा में हाईवे स्थित विभिन्न ढ़ाबो पर पुलिस और ए० आर०टी०ओ० की मिलीभगत अपना अड्डा बना रखा है! समझा जाता है कि प्रदेश के परिवहन विभाग की रोड़वेज बसो के मुकाबले यह प्रायवेट डग्गामार बसे कही प्रतिशत कम किराए में सबारी को दिल्ली तक पहुंचाती है और साथ ही उक्त बसो लाखो का टैक्स चोरी सामान भी वही उक्त बसे पुलिस की मिलीभगत के संचालन के चलते दो नम्बरी(ड्रग्स माफियों) को पूरी तरह सुविधा जनक आतो हुए पहली पंसद बनती जा रही है!
ध्यान देने योग्य है उक्त बसो के गैरकानूनी संचालन पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन यदि सख्ती से नही निपटा तो फिर वह दिन दूर नही कि उनके बुलन्द हौसलो के चलते बड़ी दुर्घना का इन्तजार नही करना पड़ेगा! यह कहना भी गलत नही होगा कि यदि प्रशासन उक्त बसो के संचालन पर सख्ती से अंकिश लगाने में कामयाब होता है तो साथ ही क्षेत्र के ड्रग्स माफियाओं पर भी खुदवाखुद काफी हद तक अंकुश लग जाएगा और क्षेत्र से कमसे कम एक अपराध में कमी आने की संभावना है!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.