कर्मचारियों ने उधेड़ी प्रदेश सरकार के आदेशों की बखियां

अंजनी राय 

बलिया। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के तत्वावधान में प्रदेशव्यापी एक दिवसीय आंदोलन के क्रम में गुरुवार को बलिया कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन कर कर्मचारियों ने न सिर्फ अपनी शक्ति का प्रदर्शन, बल्कि प्रदेश सरकार के आदेश की जमकर आलोचना भी किया। इस दौरान कर्मचारियों द्वारा मुख्यमंत्री एवं मुख्य सचिव को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा गया। अध्यक्ष सत्या सिंह ने कहा कि राज्य सरकार तानाशाही रवैया अपना रही है। कर्मचारियों के उत्पीड़न का कोई अवसर नहीं चूक रही है, जबकि कर्मचारियों के बदौलत ही आमजन से किये गये वादे पूरे होने की कार्यवाही हो रही है। कर्मचारियों के अथक परिश्रम से ही प्रदेश का विकास होता है।

वक्ताओं ने कहा कि जनसुनवाई हेतु मात्र सक्षम अधिकारी ही प्राधिकृत है। शासन के आदेशों की व्याख्या अपने स्तर पर अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है। वर्तमान राज्य सरकार महज दिखावे के कार्यों में व्यस्त है। कर्मचारियों की मूल समस्याओं की तरफ उनका ध्यान नहीं है। अभी तक केन्द्र सरकार द्वारा महंगाई भत्ता घोषित नहीं किया गया। केन्द्र सरकार द्वारा घोषित सातवें वेतन आयोग की संशोधित संस्तुतियों को लागू किये जाने के बाद भी राज्य सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है।                         

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.