जाने किन छात्र छात्राओ को नहीं मिलेगी इस वर्ष स्कॉलरशिप

हरमेश भाटिया

समाज कल्याण विभाग द्वारा ढाई लाख रुपए तक सालाना आमदनी वाले परिवारों को योजना के दायरे में लाने और स्कॉलरशिप देने के प्रस्ताव को योगी सरकार ने खारिज कर दिया योगी सरकार ने बजट की स्थिति को देखते हुए छात्रवृत्ति और शुल्क भरपाई के लिए परिवार की अधिकतम आय सीमा बढ़ाने से इनकार कर दिया है अभी तक उत्तर प्रदेश में दो लाख रुपए तक सालाना आमदनी वाले परिवारों के पढ़ने वाले बच्चों को ही इस योजना का लाभ मिलता है केंद्र सरकार ढाई लाख रुपए तक सालाना आय वाले परिवारों के विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति के साथ-साथ शुल्क भरपाई की सुविधा भी देती है

लंबे समय से उत्तर प्रदेश में भी लागू करने की यही आय सीमा की मांग की जा रही है विभागीय अधिकारियों का कहना है कि किसानों की कर्जमाफी से भारी भरकम रकम खर्च होने के चलते ऐसा कर पाना मुमकिन नहीं हो पा रहा है वर्तमान मद में इस सरकार द्वारा हर साल करीब 3400 रुपए खर्च किए जाते हैं उत्तर प्रदेश आया सीमा बढ़ाने का फायदा तभी मिलेगा जब बजट में भी कम से कम पांच से छह सौ करोड़ पर की वृद्धि की जाए सूत्रों के मुताबिक आय सीमा ढाई लाख रुपए सालाना करने के प्रस्ताव पर सरकार अगले वित्त वर्ष में विचार कर सकती है क्योंकि तब खजाने पर किसानों की कर्जमाफी का भार नहीं होगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.