घरेलू कलह से क्षुब्ध रेलवेकर्मी ने फांसी लगाकर दी जान

मो आफताब फ़ारूक़ी

इलाहाबाद। नगर के सिविल लाइन्स थानान्तर्गत रेलवे स्टैण्ट परिसर में मंगलवार की सुबह एक रेलवे कर्मी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या की वजह घरेलू कलह बताया जा रहा है।  मूलता मऊनाथ भंजन जिले के मधुबन थाना क्षेत्र के शीतलपुर उर्फ बीबीपुर गांव के निवासी राज कुमार सिंह दो भाई तीन बहनों में सबसे बड़ा था।

वह रेलवे के इलाहाबाद डीआरएम आफिस में आडिट विभाग में सहायक लिपिक के पद पर कार्यरत था और अपने परिवार के साथ नगर के कैन्ट थाना क्षेत्र के अशोक नगर मोहल्ले में पत्नी रीता सिंह और दो बेटियों रिया व प्रिया के साथ विगत काफी दिनों से रहे रहा था। घटना के सम्बन्ध में बताया जा रहा है कि मंगलवार की सुबह उसका छोटा भाई विनोद उससे मिलने के लिए आया था। उसके जाते ही राजकुमार सिंह घर से ड्यूटी के लिए अतिशीघ्र  निकल लिया। वह रेलवे स्टैण्ड में पहुंचा और परिसर में अपनी साइकिल खड़ी किया। इसके बाद उसने स्टैण्ड परिसर में लगे पंखे से गले में फंदा डालकर आत्महत्या कर ली। कुछ देरबाद रेलवे के अन्य कर्मचारी वहां पहुंचे तो फांसी के फंदे पर लटकता हुआ दिखाई दिया। उसे फांसी पर देख रेलवे कर्मचारियों ने तत्काल अपने वरिष्ठ अधिकारियों को खबर दी और उसे फांसी के फंदे से उतार कर, उपचार के लिए रेलवे अस्पताल में ले गये। जहां उसे चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। उधर खबर मिलते ही उसके परिवार के लोग भी वहां बदहवास हालत में अस्पताल पहुंचे। रेलवे अस्पताल कर्मचारियों की सूचना पर सिविल लाइंस पुलिस पहुंची और शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

उक्त घटना के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि उसने अपने छोटे भाई विनोद के लिए फाफामऊ स्थित अपने निजी घर में कुछ वर्ष पहले फर्नीचर की दुकान भी खुलवाया था। लेकिन शराबी लत हो जाने की वजह से पूरी पूंजी डूब गयी। जिससे दुकान भी बन्द करवा दिया। इस वजह से वह काफी तनाव में रहता था। इस मामले को लेकर परिवार में कलह बनी हुई थी। जिससे परेशान होकर उसने आत्महत्या कर लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.