गिरे हुवे विद्यालय भवन का मालवा तक बेच डाला चोरो ने, विभाग कि मालूम ही नहीं

हरिशंकर सोनी.

सुल्तानपुर. दशक भर से जर्जर स्कूल की सामग्री को खुलेआम बेंच दिया गया।जानकारी के बाद भी शिक्षामहकमे की चुप्पी ने,विभागीय भ्रष्टाचारके चादर में लिपटे होने का संकेत देकर महकमा की पारदर्शिता पर सवाल खड़ा किया है वहीबिक्री के बाद मिली कीमत के बदरबाँट में खुली पोल के बाद गांव में हड़कंप मचा है।जिसमें लोगों ने उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है ।

मामला शिक्षाक्षेत्र धनपतगंज के प्राथमिक स्कूल पडरे का है।दशको से जर्जर विद्यालय के कक्षको  गांव के ही कुछ लोगो ने धीरे धीरे ढहा कर, सरिया व ईंट बेंच दिया जिम्मेदारों को अभीतक पता भी नही है कि विद्यालय का जर्जर कक्ष है याकि लूट लिया गया जबकि विद्यालय या कक्ष जर्जर होने की दशा में   गांव के प्रबंध समिति द्वारा उसे ढहाने का प्रस्ताव किया जाता है और उसमें प्राप्त सामग्री को नियमानुसार नीलाम करवाकर उसी स्कूल में खर्च किया जाता है।परंतु नियमो को ताक पर रखते हुए लाखो के खेल में महकमे के जिम्मेदारों की चुप्पी ने उनकी ही भूमिका पर सवाल खड़ा कर दिया है।सूत्र बताते हैं  कि धन के बंदरबांट के चलते विभागीय जिम्मेदारों में कार्यवाही का बूता ही नही है। यही नही बिक्री से मिले धन के बंदरबाँट में इस मामले का खुलासा होने के बाद गांव में हड़कम्प मचा है।ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री समेत उच्चाधिकारियों को पत्र भेजकर कार्यवाही की मांग की है
हमसे बात करते हुवे खन्ड शिक्षा अधिकारी इस बावत खण्ड शिक्षा अधिकारी सुन्दरलाल रावत  ने बताया कि मामला संज्ञान में नही है , मामले की जांच करवाकर कार्यवाहीकी जाएगी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *