सातवें दिन भी नही खुला बीएसए कार्यालय, शिक्षा मित्रो ने शुद्धि बुद्धि यज्ञ

अंजनी राय

बलिया। सम्मान वापसी के लिए शिक्षा मित्र संघर्ष समिति के बैनर तले आयोजित शिक्षामित्रों की निर्णायक जंग सातवें दिन मंगलवार को भी जारी रही। विभिन्न शिक्षक-कर्मचारी संगठनों की उपस्थिति में शिक्षा मित्रों ने सरकार की सद्बुद्धि के लिए शुद्घि यज्ञ किया। वहीं, बीएसए कार्यालय का ताला भी लगातार सातवें दिन बंद रहा। हालांकि अपर मुख्य सचिव से सोमवार को हुई शिक्षामित्र संगठन की विफल वार्ता को देखते हुए मंगलवार को शिक्षामित्रों के धरना सभा स्थल पर पुलिस की भारी सुरक्षा रही।

शिक्षामित्रों की हर गतिविधि पर प्रशासन की नजर रही। वहीं, सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस के जवान लगातार चक्रमण करते रहे। धरना-प्रदर्शन सभा को सम्बोधित करते हुए कर्मचारी नेता रामराज तिवारी ने कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से लड़ी जाने वाली लड़ाई में हमेशा जीत होती है। शिक्षामित्र साथी धैर्य बनाकर अपनी लड़ाई जारी रखे, सरकार को झुकना पड़ेगा। सीनियर बेसिक शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष सुशील पांडेय कान्हजी ने कहा कि शिक्षामित्रों की लड़ाई जायज है। इनकी मांग पर सरकार सहानुभूतिपूर्वक निर्णय नहीं लेती है तो प्रदेश भर के विद्यालयों पर ताला लटका दिया जायेगा। शिक्षक नेता जितेन्द्र सिंह ने कहा कि शिक्षकों के धैर्य में इतनी ताकत है कि सरकार को अंतत: झुकना ही पड़ेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.