वाराणसी: दालमंडी में नम आँखों से सपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने किया मुलायम सिंह को याद, आदिल खान ने मुलायम सिंह से हुई अपनी मुलाकात को याद कर बहाया श्रद्धा के आंसू

ईदुल अमीन

वाराणसी: समाजवादी पार्टी के संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव जिनको पार्टी कार्यकर्ता और उनके समर्थक धरती पुत्र कहकर पुकारते थे का आज निधन होने से समाजवादियो में शोक की लहर दौड़ रही है। शहर बनारस में मुलायम सिंह को श्रद्धाजलि देने के लिए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित हुवे जिसमे सपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मुलायम सिंह यादव को नम आँखों से श्रद्धांजलि दी। इसी क्रम में दालमंडी के अरविन्द सिंह कटरे में समाजवादी नेता आदिल खान, मो0 हैदर गुड्डू, नजमी सुल्तान के संयुक्त नेतृत्व में मुलायम सिंह यादव के निधन पर एक श्रद्धाजली सभा का आयोजन किया गया।

श्रद्धाजलि सभा में समाजवादी नेताओ और कार्यकर्ताओं ने मुलायम सिंह यादव की तस्वीर पर श्रद्धासुमन चढाते हुवे उन्हें नम आँखों के साथ याद किया। इस अवसर पर समाजवादी नेता और वाराणसी में समाजवादी संघर्ष की बड़ी पहचान आदिल खान ने स्मृति शेष बताते हुवे कहा कि “मैंने समाजवादी पार्टी की सदस्यता नेता जी के हाथो लिया था। उस दिन नेता जी ने समाजवाद का अर्थ और संघर्ष के सम्बन्ध में विस्तार से बताया था जो आज भी मेरे दिलो दिमाग में अंकित है। मैं उस मुलाकात के बाद नेता जी से लगभग 7-8 सालो के बाद मिला था दुबारा। नेता जी की स्मरण शक्ति अलोकिक है इसको सुना था मगर दूसरी मुलाकात में देख लिया जब नेता जी जो मुझसे 7-8 साल पहले मिले थे ने मुझे मेरा नाम लेकर संबोधित किया।

आदिल खान ने कहा कि नेता जी का गुज़र जाना पुरे समाजवाद का एक बड़ा नुक्सान है। नेता जी अमर हुवे है और हमारी स्मृतियों में हमेशा रहेगे। नेता जी के शब्द हमारे लिए हमेशा से प्रेरणाश्रोत रहे है। इस अवसर पर शोक सभा को संबोधित करते हुवे सपा नेता एड0 नजमी सुल्तान ने मुलायम सिंह के संघर्षो पर प्रकाश डालते हुवे कहा कि उत्तर प्रदेश में जेपी आन्दोलन का एक बड़ा चेहरा मुलायम सिंह यादव थे। लोहिया जी के आदर्श पर चलकर उन्होंने प्रदेश में एक नही बल्कि तीन बार सत्ता प्राप्त किया और मुख्यमंत्री रहते हुवे आम जन के हितो में कई फैसले किये।

शोकसभा को संबोधित करते हुवे वरिष्ठ सपा नेता मो0 हैदर गुड्डू ने कहा कि मुलायम सिंह यादव समाजवाद को प्रदेश में स्थापित करने वाले एक बड़े स्तम्भ थे। उन्होंने समाज में भेदभाव की सियासत से ऊपर उठकर मानवता और इन्साफ परस्ती की सियासत किया। उनका निधन केवल समाजवादी पार्टी की ही क्षति नही बल्कि पुरे समाजवाद का एक बड़ा नुक्सान है। इस अवसर पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुवे सपा नेता मो0 इमरान खान ने कहा कि प्रदेश में दबे कुचलो को सम्मान दिलवाने की बात जब भी होगी मुलायम सिंह यादव का नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखा हुआ मिलेगा।

फरीद आलम ने शोक सभा को संबोधित करते हुवे कहा कि मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी संघर्ष की ऐसी नीव डाली है जिसने समाजवाद को प्रदेश में जिंदा कर दिया। मुलायम सिंह यादव ने पिछडो और अख्लियत को सम्मान दिलवाया है। उनका निधन पुरे समाज के लिए एक बड़ी क्षति है। शोक सभा को संबोधित करते हुवे मो0 साजिद गुड्डू ने कहा कि मुलायम सिंह यादव ने पुरे प्रदेश में ही नही बल्कि देश में लोहिया जी के सपनो को साकार करने का काम अपने पुरे जीवन भर किया। जब भी उत्तर प्रदेश की सियासत लिखी जाएगी मुलायम सिंह यादव का नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जायेगा। शोक सभा में प्रमुख रूप से आदिल खान, इमरान खान, फरीद आलम, मो0 साजिद “गुड्डू”, नजमी सुल्तान, अमीन सिद्दीकी, अमन खान, निशात खान, फरमान, बाबु इलाही और कैफ आलम. नदीम अहमद सिद्दीकी आदि समाजवादी कार्यकर्ता मौजूद थे।

Welcome to the emerging digital Banaras First : Omni Chanel-E Commerce Sale पापा हैं तो होइए जायेगा..

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *