इसराइल हमास जंग के पुरे हुवे आज 2 महीने, गज़ा में जारी है इसराइल और हमास के बीच युद्ध, UN महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने चार्टर शक्ति का प्रयोग कर सुरक्षा परिषद से कहा ‘गज़ा युद्ध पर कार्यवाही करे’, पढ़े क्या हुआ पिछले 24 घंटो में

फारुख हुसैन

डेस्क: आज गुरुवार 7 दिसंबर को इसराइल पर हमास के हमले के दो महीने पूरे हो गए। इस हमले में हमास के लड़ाके इसराइल की सीमा के भीतर घुस आए थे और उन्होंने बड़ी संख्या में इसराइली नागरिकों की हत्या की। वो अपने साथ क़रीब 240 इसराइली नागरिकों को बंधक बना कर ले गए। इसके जवाब में इसराइल ने ग़ज़ा पर हमला बोल दिया। इन हमलों में अब तक हज़ारों लोगों की मौत हुई है। आज इस बीच, संयुक्त राष्ट्र महासचिव, एंटोनियो गुटेरेस ने संयुक्त राष्ट्र चार्टर के मिली शक्ति का इस्तेमाल करते सुरक्षा परिषद से कहा है कि वो ग़ज़ा युद्ध पर कार्रवाई करे। बताते चले कि अब तक परिषद पूर्ण युद्धविराम का आह्वान करने वाले किसी भी प्रस्ताव का समर्थन करने में विफल रही है।

बुधवार को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेस ने सुरक्षा परिषद के सदस्यों को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के उस आर्टिकल का इस्तेमाल करने की बात कही है, जिसका उपयोग दशकों में नहीं हुआ। उन्होंने सुरक्षा परिषद से अपील की है कि वो ग़ज़ा में एक बड़े मानवीय संकट टालने में मदद करें। मीडिया से बात करते हुवे गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफ़न डुजारीक ने कहा कि महासचिव का किसी आर्टिकल का आह्वान करना दुर्लभ है लेकिन उनके पास कोई और उपाय भी नहीं है क्योंकि ‘मानवीय पीड़ा’ हदपार कर चुकी है। वही इसराइल ने उन पर और नीचे गिरने का आरोप लगाया और कहा कि ये दर्शाता है कि वो पक्षपात कर रहे हैं।

बीते सप्ताह सात दिन चले युद्धविराम ख़त्म होने के बाद इसराइल ने एक बार फिर ग़ज़ा पर हवाई और ज़मीनी हमले शुरू कर दिए हैं। उत्तरी ग़ज़ा समेत दक्षिणी ग़ज़ा के कई इलाक़ों में इसराइल की भीषण बमबारी जारी है। वही मिल रहे समाचारों में हमास के द्वारा बड़ा गतिरोध भी इसराइल को झेलना पड़ रहा है।  इसराइल और ग़ज़ा के बीच युद्धविराम ख़त्म होने के बाद उत्तर में अब तक राहत सामग्री नहीं पहुंच पाई है। ग़ज़ा के उत्तर में जबालिया शरणार्थी कैम्प में इसराइल की भीषण बमबारी जारी है। ये ग़ज़ा पट्टी का सबसे घनी आबादी वाला इलाक़ा तो है ही, ये वहां का सबसे बड़ा शरणार्थी कैम्प भी है। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार युद्ध से पहले तक 1।4 वर्ग किलोमीटर का ये इलाक़ा एक लाख 15 हज़ार लोगों का ठिकाना था।

इसराइल ने गज़ा के उत्तरी हिस्से से लोगों को निकलने की चेतावनी दी थी, लेकिन वहीं हमास के स्थानीय प्रशासन का कहना है कि अब भी हज़ारों लोग वहां रह रहे हैं। इसराइली सेना का दावा है कि उसने जबालिया में कई बंदूकधारियों को मारा है और सुरंगों के नेटवर्क का पता लगाया है। सेना ने कहा है कि उन्हें वहां बड़ी संख्या में हथियार मिले हैं, साथ ही एक ट्रेनिंग ग्राउंड भी मिला है। इसराइली सेना का दावा है कि वो ग़ज़ा के दक्षिण में बसे ख़ान यूनिस शहर में दाखिल हो चुकी है और उन्होंने वहां हमास के ग़ज़ा में राजनीतिक विंग के प्रमुख याह्या सिनवार के घर को घेर लिया है। हमास प्रमुख इस्माइल हानिया के बाद हमास में 61 साल के सिनवार की जगह दूसरे नंबर पर है।

इसराइली सेना का कहना है कि ऐसा लगता है कि वो घर पर नहीं हैं। माना जा रहा है कि वो अपने सुरक्षाकर्मियों के साथ सुरंगों में कहीं छिपे हैं और उन्हें ट्रैक न किया जा सके, इसलिए किसी के साथ संपर्क में नहीं है। ग़ज़ा में हमास के नियंत्रण वाले स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि अब तक इसराइल के हमलों में ग़ज़ा में 17,177 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 46,000 लोग घायल हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता अशरफ़ अल-किद्रा ने कहा है कि बीते 24 घंटों में इसराइली हमलों में 350 फ़लस्तीनियों की मौत हुई है और 1,900 लोग घायल हुए हैं।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने ग़ज़ा में तुरंत मानवीय आधार पर युद्धविराम की मांग की है और कहा है कि पूरे ग़ज़ा की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा चुकी है क्योंकि अस्पतालों को युद्ध का मैदान बना दिया गया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात देखते हुए कहा नहीं जा सकता कि ग़ज़ा फिर कभी पहले जैसा हो सकेगा। उनकी टिप्पणी की इसराइल के विदेश मंत्री ने कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि गुटेरेस का कार्यकाल ‘विश्व शांति के लिए ख़तरा है।’

इसराइल की सेना का कहना है कि उसके सैनिक दक्षिणी ग़ज़ा के मुख्य शहर खान यूनिस में हमास लड़ाकों से लड़ रहे हैं। सेना का दावा है कि यहाँ हमास का एक बड़ा नेता छिपा हुआ है। लगातार बमबारी के चलते गज़ा के लोगों की दुर्दशा पर अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद इसराइल दक्षिणी ग़ज़ा में ईंधन की आपूर्ति को थोड़ा बढ़ाने पर भी तैयार हो गया है। बुधवार रात इसराइल के मंत्रियों ने ग़ज़ा में और अधिक ईंधन के प्रवेश को मंजूरी दे दी। इसराइल की सेना खान यूनिस के बीचोबीच पहुंच गई है। उधर, हमास की सशस्त्र शाखा का कहना है कि लड़ाई भीषण हो रही है। जबकि इसराइली सेना अब ग़ज़ा में हमास के नेता याह्या सिनवार के घर तक पहुंच गई है।

Welcome to the emerging digital Banaras First : Omni Chanel-E Commerce Sale पापा हैं तो होइए जायेगा..

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *