बिहार भागलपुर – हनुमान प्रतिमा की स्थापना पर भड़का बवाल, पथराव व गोलीबारी, दर्जनों घायल

बिहार
भागलपुर (संवाददाता)। भागलपुर में गुरुवार को एक मंदिर में हनुमानजी की प्रतिमा के स्थापना के विवाद में एक समुदाय की पुलिस से झड़प हो गई। इस दौरान भीड़ ने जमकर पथराव किया। भीड़ ने गोलीबारी भी की। पुलिस ने भी लाठीचार्ज व गोलीबारी की। घटना में दर्जनों लोग घायल बताए जाते हैं। लोगों का गुस्सा मंदिर का विरोध कर रहे दूसरे समुदाय के धर्मस्थल पर भी उतरा।
जानकारी के अनुसार भागलपुर के हबीबपुर थाना क्षेत्र स्थित अंबे पोखर में निर्मित मंदिर में एक समुदाय के लोगों ने पूर्व से स्थापित हनुमान जी की खंडित प्रतिमा को हटा नयी प्रतिमा को स्थापित किया था। दूसरे समुदाय ने सरकारी जमीन पर मंदिर बनाए जाने का विरोध किया। अंबे पोखर के मालिकाना हक को लेकर न्यायालय में मुकदमा भी चल रहा है।
दूसरे समुदाय के लोगों ने मंदिर में प्रतिमा स्थापित करने की शिकायत हबीबपुर थाने को कर दी। इसके बाद एसडीओ कुमार अनुज के नेतृत्व में प्रशासन व पुलिस की टीम पोखर पहुंची और स्थापित व खंडित मूर्तियों को कब्जे में ले लिया। इस घटना के बाद मंदिर के पक्ष में खड़े समुदाय विशेष के लोग उग्र हो गए।
आक्रोशित भीड़ ने पुलिस और प्रशासन पर पथराव शुरू कर दिया तथा मूर्ति को छीनकर पुनः स्थापित कर दिया। भीड़ ने नजदीक ही बने दूसरे समुदाय के धर्मस्थल पर पथराव भी शुरू किया। इसके बाद स्थिति पर नियंत्रण के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया।
लाठीचार्ज से भीड़ और उग्र हो गयी। बताया जाता है कि लोगों ने पुलिस पर फायरिंग भी कर दी। आसपास के इलाकों से हवाई फायरिंग की आवाज आने लगी। जवाब में पुलिस ने भी हवाई फायरिंग की। पुलिस और पब्लिक के बीच इस गाेलीगारी से माहौल में दहशत व तनाव और बढ़ गया। आक्रोशित लोगों ने मीडिया को भी निशाना बनाया। घटनाक्रम में एसडीओ सहित दर्जनों पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को चोटें आयीं। भीड़ में शामिल दर्जनों लोग भी घायल बताए जा रहे हैं।
घटना स्थल पर डीएम आदेश तितरमारे व एसएसपी मनोज कुमार समेत जिले के वरीय अधिकारी पहुंचे। शांति समिति की बैठक भी बुलाई गई। फिलहाल, स्थिति तनावपूर्ण, लेकिन नियंत्रण में है। एक दर्जन से ज्यादा थानों की पुलिस घटना-स्थल पर कैंप कर रही है। वहां दंगा नियंत्रण वाहन व रैपिड एक्शन फाॅर्स को भी तैनात किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *