जीएसटी के जनविरोधी स्वरूप का अर्धरात्रि में हुआ पुतला दहन

जावेद अंसारी 

कांग्रेस ने आज अर्धरात्रि में उसी समय जनविरोधी स्वरूप
में लागू जीएसटी का पुतला दहन किया,जब   केन्द्र सरकार देश की आजादी के
समतुल्य उसका संसदीय जश्न मना रही थी। पूर्व विधायक श्री अजय राय के
नेतृत्व में कांग्रेसजनों ने जीएसटी के कॉर्पोरेट-फ्रेंडली माडल का पुतला
फूंकते हुए कहाकि हर भारतवासी के घर से मांगलिक आस्था के रिश्ते वाली
बनारसी साड़ी से कफन तक पर और किसानों का लागत बोझ बढ़ाने वाले कृषि उपकरणों
तक पर भी पहली बार टैक्स ठोंकते हुए लागू जीएसटी माडल माडल का हम विरोध करते हैं।

कांग्रेसजनों
ने आरोप लगाया कि भाजपा ने माडरेट दरों वाली कांग्रेस के समय के जीएसटी
प्रस्ताव को गुलामी का दस्तावेज बताकर भारी विरोध किया था और अब वह पूर्णत:
बड़े औद्योगिक घरानों के फायदे का बुनकरविरोधी, बनारसी वस्त्र उद्योग को
तबाह और किसान को बर्बाद करने वाला तथा पहले से जटिल कर ढांचा जीएसटी में
लेकर आये हैं और झूठे फीलखुड की तर्ज पर चाहते हैं कि पूरा देश उसका जश्न
मनाये।क्या तर्क है कि पेट्रोल-डीजल,शराब नर जीएसटी नहीं लगी,काश्मीर में
नहिं लगी,खाने के बिस्कुट पर 18% और सोने के बिस्कुट पर 3% तथा मर्सिडीज पर
6% और ट्रैक्टर पर 28%एवं हल पर 10% टैक्स केन्द्र ने लगाया। सभी
कांग्रेसजन जीएसटी के  इस जनविरोधी माडल के खिलाफ और
व्यापारियों,उद्यमियों,बुनकरों, किसानों तथा बनारसी वस्त्रोद्योग
व्यापारियों के संघर्ष के साथ है।
पुतला
दहन कार्यक्रम में राय के अलावा शामिल थे जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री
प्रजानाथ शर्मा,सीताराम केसरी,देवेन्द्र सिंह,शैलेन्द्र सिंह,राघवेन्द्र
चॊबे,हरीश मिश्रा,राजकुमार सोनकर,राकेशचन्द,पार्षद प्रिंसराय खगोलन,पार्षद
गोविन्द शर्मा,राकेश पाठक,मनीष चॊबे,फासहत हुसैन बाबू,राजेन्द्र
मिश्रा,राजेश त्रिपाठी,प्रभात वर्मा,ओम शुक्ला,चंचल शर्मा,मयंक चॊबे,रंजीत
सेठ,धनवन्तरी द्विवेदी,रविन्द्र वर्मा हाजी ओकास अंसारी आदि।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.