GST के खिलाफ आज बनारस बंद, 150 से ज्यादा व्यापार मंडलों का समर्थन

जावेद अंसारी
आज
रात से जीएसटी के लॉन्चिंग पर विशेष सत्र बुलाया गया है। कल से देशभर में
एक टैक्स लागू हो जाएगा। सरकार को इस नए कानून से आर्थिक विकास की उम्मीद
है, दूसरी ओर जीएसटी का विरोध भी जमकर हो रहा है। कानपुर और बनारस में बंद
का ऐलान किया गया है। आज बनारस बंद है। जीएसटी
की विसंगतियों के विरोध में 30 जून को बनारस बंद रहेगा। बनारस के 150 से
ज्यादा व्यापार मंडलों ने बंद का समर्थन किया है। शुक्रवार को दवा सहित कुछ
जरूरी वस्तुओं को बंद से अलग रखा गया है। बंद को सफल बनाने के लिये
गुरुवार को व्यापार मंडलों ने अपने-अपने तरीकों से संपर्क अभियान चलाया।
शहर
के बाजारों में रजिस्टर घुमाये गए और समर्थन की अपील की गई। 30 जून को
सराफा बाजार भी बंद रहेगा। शहर के साथ गांव के बाजारों में भी व्यापारियों
ने बंद रखने का फैसला किया है। इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन वाराणसी मंडल के
अध्यक्ष आरके चौधरी ने कहा कि बंद को लेकर व्यापार मंडलों का जबरदस्त
सहयोग है। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (संगठन)
मोहनलाल सरावगी ने कहा कि व्यापारी जीएसटी की कमियों के खिलाफ एकजुट हैं।
बंद को सफल बनाया जायेगा।
इन व्यापार मंडलों ने दिया समर्थन
अखिल
भारतीय उद्योग व्यापार मंडल, लहरतारा व्यापार मंडल समिति, विश्वेश्वरगंज
व्यापार मंडल, काशी व्यापार प्रतिनिधि मंडल, गोविंदपुरा रेशम कटरा व्यापार
मंडल, श्री काशी सराफा मंडल, प्रतिनिधि उद्योग व्यापार मंडल, वाराणसी
फर्नीचर व फर्निर्शिंग व्यापार मंडल, वाराणसी बिल्डर्स एंड डेवलपर्स
एसोसिएशन, ऑल इंडिया कारेपट मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन, दशाश्वमेध
व्यापार मंडल, वाराणसी व्यापार मंडल जेठमल चांडक गुट, वाराणसी व्यापार
मंडल अजीत सिंह बग्गा गुट, लोहा व्यापार मंडल समिति, उत्तर प्रदेश उद्योग
व्यापार प्रतिनिधि मंडल, रेशमी तागा संघ, थोक वस्त्र व्यवसायी समिति,
बनारसी वस्त्र उद्योग एसोसिएशन,
बनारसी साड़ी डीलर
एसोसिएशन, जरी व्यापार मंडल, खाद्य व्यापार मंडल, काशी युवा व्यापार
प्रतिनिधि मंडल, काशी इलेक्ट्रॉनिक व्यापार मंडल, वाराणसी बिजली सजावट
सामग्री व्यवसायिक समिति, कचौड़ी गली व्यवसायिक संघ, काशी कागज व्यवसायी
समिति, गुरुनानक मार्केट व्यवसायिक मंडल, अस्सी व्यापार मंडल, श्री काशी
रेडीमेड होजरी एसोसिएशन, काशी किराना व्यापार मंडल, पूर्वांचल उर्वरक संघ,
लक्सा व्यापार मंडल, जिला उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल, वाराणसी केराना
व्यापार समिति, बनारस ऑयल
एसोसिएशन, सिल्क ट्रेड एसोसिएशन, विश्वनाथ गली व्यवसायिक समिति, दालमंडी
व्यापार मंडल, चौक ज्ञानवापी व्यापार, काशी देशी घी व्यापार मंडल, मालवीय
मार्केट व्यवसायिक संघ, वाराणसी प्रकाश संघ, वाराणसी चाय व्यापार प्रतिनिधि
मंडल, बनारस व्यापार मंडल, पूर्वांचल जर्दा निर्माता एसोसिएशन, जवाहर लाल
नेहरू व्यवसायिक संघ, रंग व्यवसायिक संघ, काशीपुरा व्यापार मंडल समिति,
भेलूपुर व्यवसायिक संघ, नदेसर व्यापार मंडल, बनारस सुर्ती व्यापारी संघ,
चेतगंज व्यवसायिक संघ, साइकिल व्यवसायी संघ, नारियल बाजार छत्तातले व्यापार
मंडल, वाराणसी सुपारी डीलर्स एसोसिएशन, कर्णघंटा सप्तसागर व्यापार मंडल
आदि।
नगर उद्योग व्यापार मंडल ने खींचे हाथ
बनारस
बंद के मुद्दे पर जहां जिले के करीब सभी व्यापार मंडलों का समर्थन है वहीं
वाराणसी नगर उद्योग व्यापार मंडल ने हाथ खींच लिये हैं। पिछले दिनों
व्यापार मंडलों की संयुक्त प्रेसवार्ता में नगर उद्योग व्यापार मंडल के
पदाधिकारियों ने कार्यकारिणी का हवाला देकर पीछे हट गये थे। फिर एक बैठक कर
बंद पर संबद्ध व्यापार मंडलों पर स्वैच्छिक निर्णय की बात कही और बंद का
विरोध करने की छूट का विकल्प भी दे दिया। नगर उद्योग व्यापार मंडल ने
जीएसटी को लेकर स्पष्ट निर्णय नहीं लिया है। हालांकि जीएसटी की विसंगतियों
के विरोध में धरने की बात कही है।
मुर्री बंद की घोषणा कर सकती हैं बुनकर तंजीम
वाराणसी। कपड़े पर जीएसटी के विरोध में बुनकर बिरादराना तंजीम मुर्री बंद की घोषणा कर सकती हैं। 
गुरुवार को रथयात्रा स्थित कन्हैयालाल स्मृति भवन में बनारसी वस्त्र उद्योग एसोसिएशन की बैठक में इस विकल्प पर विचार किया गया।
बैठक
में साड़ी कारोबारियों और तंजीमों के सरदारों ने कहा कि गरीब बुनकरों को
देखते हुए तत्काल मुर्रीबंद का फैसला नहीं होगा मगर जीएसटी वापस न होने की
स्थिति में मुर्री बंद होगा। बैठक में बावनी के सरदार हाजी मुख्तार, बाईसी
के सरदार इकरामुद्दीन व हाजी अब्दुल कलाम, बावनी के सरदार मकबूल हसन,
बारहों के सरदार मोहम्मद हाशिम और पांचों के सरदार अली हसन मौजूद थे।
बनारसी
वस्त्र उद्योग एसोसिएशन के संरक्षक अशोक धवन ने कहा कि बैठक में 21
सदस्यीय कमेटी बनाई गई है जिसके अध्यक्ष जगदीश शाह और महामंत्री राजन बहल
होंगे। यह कमेटी शुक्रवार को आगे की रणनीति पर फैसला करेगी। उन्होंने कहा
कि बनारसी वस्त्र कुटीर उद्योग में आते हैं। इसीलिये इस पर जीएसटी नहीं
लगना चाहिये। साड़ी कारोबारी और बुनकर तंजीमों के पदाधिकारी प्रधानमंत्री
नरेंद्र मोदी से मिलेंगे। मुलाकात
होने तक कारोबार बंद रखा जायेगा। इस मौके पर राकेश वशिष्ठ, अजय पाठक, हाजी
अब्दुल रब, गुरप्रीत रूपानी, अनूप गुजराती, भगवती प्रसाद अग्रवाल, अनवरुल
हक, हर्षित मेहरा, विजय कपूर, संजय शाह, मनीष शाह आदि मौजूद थे।
कैंडिल मार्च निकालकर जताया विरोध
वाराणसी।
व्यापारियों ने जीएसटी के विरोध में गुरुवार को कैंडिल मार्च निकाला।
वाराणसी युवा व्यापार मंडल की ओर से मछोदरी पार्क से चौक तक व्यापारियों ने
मार्च किया। व्यापारी टॉफी, बिस्कुट, नमकीन पर जीएसटी की दरें ज्यादा होने
का विरोध किया और अव्यवहारिक नियमों को हटाने की मांग की। व्यापार मंडल के
अध्यक्ष संजय गुप्ता ने कहा कि जीएसटी का नियम सरल व पारदर्शी होना
चाहिये। मार्च में अजीत सिंह बग्गा, सुशील लखमानी, सनी जौहर, कवींद्र
जायसवाल, आफताब आलम, बृजभूषण दास गुप्ता, देवेंद्र नारायण सिंह, अनुभव
जायसवाल, विजय चौरसिया, राजीव केजरीवाल, अंबे सिंह, द्रुव श्रीवास्तव, आशीष
गुप्ता, गौरव भाटिया, गगन बिहारी, राजेश सोनी, विशाल अग्रवाल आदि शामिल
हुए।
दो महीने तक बिल में गलती होने पर कार्रवाई नहीं
वाराणसी।
जीएसटी लागू होने के दो महीने बाद तक बिल में किसी तरह की गलती होने पर
व्यापारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होगी। यह जानकारी गुरुवार को काशी
रेडीमेड गारमेंट्स एसोसिएशन की जीएसटी कार्यशाला में वाणिज्य कर विभाग के
अधिकारियों ने दी। संयुक्त आयुक्त आरएन पाल ने कहा कि शुरू में व्यापारियों
को राहत दी गई है। चार्टर्ड अकाउंटेंट राहुल गाभावाला ने कहा कि 16
बिंदुओं पर बिल का फॉर्मेट आया है।
एसोसिएशन
के उपाध्यक्ष श्रीनारायण खेमका ने कहा कि व्यापारियों ने प्रोविजनल आईडी,
बिल के फॉर्मेट को लेकर सवाल किये। कार्यशाला में सहायक आयुक्त पारितोष
मिश्रा, अनिल कुमार सेठ, दीपक वासवानी, अशोक जायसवाल, प्रेम मिश्रा, शैलेष
जायसवाल, मनोज लखमानी, शाश्वत खेमका, रमेश चंदवानी, बालकिशन अग्रवाल, विजय
जायसवाल आदि मौजूद थे। पीएनयू क्लब में गुरुवार को हुई कार्यशाला में
सर्विस टैक्स के सुपरिटेंडेंट भूपेंद्र विजय, संयुक्त आयुक्त आरएन पाल,
सहायक आयुक्त अल्पना वर्मा ने सदस्यों को जीएसटी से जुड़े प्रावधानों की
जानकारी दी।
सीए
इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष अतुल सेठ और सीए विशाल बी अशर ने जीएसटी में रिटर्न
भरने की प्रक्रिया और इनपुट टैक्स क्रेडिट लेने के तरीकों की जानकारी दी।
इस मौके पर रमेश गिनोडिया, अनुज डिडवानिया, विकास दुबे, अशोक वर्मा, विनय
सिंह, मयंक टकसाली, अमरेश दुबे, विशाल जायसवाल, मोहित कपूर आदि मौजूद थे।
लोहा
व्यापार मंडल की ओर से मलदहिया स्थित होटल विशाल में गुरुवार को जीएसटी पर
कार्यशाला हुई। कार्यशाला में मुख्य अतिथि वीके शुक्ला ने जीएसटी से जुड़े
सवालों का जवाब दिया। व्यापार मंडल के महामंत्री रजनीश कन्नौजिया ने कहा कि
जीएसटी में क्रेडिट के नियमों से व्यापारी निराश हैं। वैट में चुकाई गई
राशि को लेकर भी भ्रम की स्थिति है। इस मौके पर राम भजन अग्रहरि, प्रह्लाद
विश्वकर्मा, हजारी लाल अग्रहरि, कैलाश साहू, लालजी अग्रहरि, मोहम्मद इलियास
अहमद, जगरनाथ अग्रहरि, आशीष कृष्ण, श्याम आदि मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.