काशी के सामाजिक संगठन से जुड़ी फ्रांस की महिला के साथ दुष्कर्म

शबाब ख़ान
वाराणसी:
यह एक सनसनीखेज घटना है जिसने काशी की आत्मा, उसके प्रति देशी-विदेशी
लोगों की आस्था को एक ही झटके से तार-तार कर दिया। विदेशियों के काशी के
लोगों के प्रति विश्वास को एक चौकीदार नें गहरी चोट पहुँचायी हैं।
एक सामाजिक संगठन से जुड़ी विदेशी महिला के साथ चौकीदार द्वारा मारपीट के बाद दुष्कर्म करने की घटना प्रकाश में आयी हैं। वाराणसी
की एक सामाजिक संस्था से जुड़ी फ्रांस की वृद्ध महिला के साथ दुष्कर्म और
मारपीट की घटना हुई है। विदेशी के साथ दुष्कर्म की जानकारी होते ही पुलिस
महकमा हरकत में आया। एसपी ग्रामीण और सीओ सदर मौके पर पहुंचे। पुलिस की एक
टीम पीडि़ता को उपचार के लिए ले गई तो दूसरी टीम आरोपी की तलाश में
मीरजापुर निकल गई।
फ्रांस
की एक वृद्ध महिला उम्र लगभग 65 वर्ष, वाराणसी में शूलटंकेश्वर के एक
सामाजिक संस्थान से बतौर वालंटियर के रूप में जुड़ी हैं। पिछले 11 महीने से
वे शूलटंकेश्वर में संस्था के समीप किराये के मकान में रह रही थी। गंगा
किनारे जिस मकान में वह रहती थी, उसकी सुरक्षा के लिए चुनार मीरजापुर के
ओमप्रकाश को बतौर चौकीदार रखा गया है। कल रात रात चौकीदार ने मौका पाकर
विदेशी महिला के साथ दुष्कर्म किया। इसका विरोध करने पर पीडि़ता के साथ
मारपीट भी कि जिससे उनका सिर फट गया। दुष्कर्म के बाद आरोपी फरार हो गया।
‌पीडि़त विदेशी महिला ने आज सुबह संस्थान के लोगों के साथ ही पुलिस को अपने
साथ हुई वारदात की जानकारी दी।
एसएसपी
नितिन तिवारी ने कहा कि मेडिकल में रेप की पुष्टि हुई है। डीएम योगेश्वर
राम मिश्रा ने कहा है कि प्रशासन महिला के ‌इलाज का पूरा खर्च उठाएगा। इस
बीच आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस ने एक टीम का गठन कर उसे मिर्जापुर रवाना
कर दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.